अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

किशनगंज में 91 लाख रुपए की ठगी करने के मामले में अधिवक्ता गिरफ्तार

किशनगंजः- बिहार में किशनगंज जिले के एक अधिवक्ता को 91 लाख रुपए की ठगी करने के मामले में गिरफ्तार किया गया है। पश्चिमी बंगाल के सिलीगुड़ी क्राइम ब्रांच के अधिकारी विश्वजीत घोष ने बुधवार को बताया कि रुइधासा निवासी अधिवक्ता समीर दुबे पर आक्सन पदाधिकारी सह अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश बनकर 91 लाख रुपए ठगी करने के मामले में गिरफ्तार किया गया है। समीर के विरूद्ध सिलिगुड़ी के भक्ति नगर थाने में बंगाल के व्यापारी ने 28 जून को 91 लाख रुपये ठगे जाने का मामला दर्ज करवाया गया था। विश्वजीत घोष ने बताया कि प्राथमिकी में बंगाल के व्यवसायी मुकेश सिंघल, विमल सिंघल एवं उत्तम अग्रवाल ने यह आरोप लगाया था कि अधिवक्ता समीर दूबे ने किशनगंज थाना, उत्पाद विभाग के द्वारा जब्त की गई गाड़ियों एवं गेहूं के आक्सन के नाम पर 91 लाख रुपए ठग लिए हैं। अधिवक्ता ने खुद को पदाधिकारी बताकर बंगाल के व्यापारियों को झांसे में लिया और रुपए ठग लिए। यह रुपए अलग-अलग कि़स्त में समीर सिलीगुड़ी जाकर लिए हैं। मामले में सिलिगुड़ी के भक्तिनगर थाने में प्राथमकी दर्ज होने के बाद पुलिस घटना के अनुसंधान में जुट गई। मामले की गंभीरता देखते हुए इसे क्राइम ब्रांच को सौंप दिया गया। अधिकारी ने बताया कि जांच के क्रम में मिले साक्ष्यों के आधार पर सिलीगुड़ी के क्राइम ब्रांच की टीम बुधवार को किशनगंज पहुंची और सदर थाना की पुलिस से सम्पर्क साधा। इसके बाद सदर थानाध्यक्ष भी बंगाल पुलिस के साथ न्यायालय के पास पहुंचे और आरोपी को मौके से गिरफ्तार कर लिया गया। अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी अनवर जावेद अंसारी ने कहा कि बंगाल के भक्तिनगर थाने में अधिवक्ता सीमर दूबे के विरुद्ध मामला ठगी का मामला दर्ज था। इस मामले में बंगाल पुलिस आरोपी की गिरफ्तारी के लिए पहुंची थी। बंगाल पुलिस को किशनगंज पुलिस के द्वारा सहयोग किया गया है। टीम कड़ी सुरक्षा में आरोपी अधिवक्ता को अदालत में पेश करने के बाद अपने साथ लेकर गई। वहीं, अधिवक्ता समीर दूबे ने कहा कि न्यायालय परिसर से मुझे गिरफ्तार किया गया है जो असंवैधानिक है।

%d bloggers like this: