अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

रंगदारी के लिए कारोबारियों को धमकी देने वाला आरोपी गिरफ्तार


रांची:- पुलिस ने वर्चुअल कॉल के माध्यम से कारोबारियों को मिल रही रंगदारी का खुलासा कर लिया है। गहन छानबीन और तकनीकी टीम के अथक प्रयास से पुलिस ने गढ़वा से सुजीत सिन्हा के एक गुर्गे को गिरफ्तार किया है। अपने आपको मयंक सिंह बताकर अमित कुमार चौधरी नाम का युवक कारोबारियों की नाक में दम कर रखा था। अमित कुमार चौधरी धनबाद जेल में बंद गैंगस्टर सुजीत सिन्हा के संपर्क में था और उसी के इशारे पर कारोबारियों से रंगदारी मांग रहा था और धमकी दे रहा था।
सूत्रां से मिली जानकारी के अनुसार पूछताछ के क्रम में अमित चौधरी ने पुलिस को बताया है कि यूपी के रहने वाले अभिषेक और जेल में बंद सुजीत सिन्हा के लिए वह काम करता है। इन्हीं के कहने पर वह रंगदारी की मांग करता ।हाल के दिनों शहर के दो इलाके में रहने वाले कारोबारियों से दो-दो करोड़ रुपए की रंगदारी मांगी गई थी। रंगदारी व्हाट्सएप के माध्यम से मांगी गई थी।पुलिस ने मामले की जांच की और अमित चौधरी को गिरफ्तार किया तो उसके पास से वही सिम कार्ड मिल गया जिसका इस्तेमाल कर वह रंगदारी की मांग करता था।
बताया गया है कि रांची पुलिस के द्वारा दो कारोबारियों से दो-दो करोड रुपए रंगदारी मांगने के मामले में जेल में बंद अमन साहू से पूछताछ की गई थी। पूछताछ के क्रम में अमन ने पुलिस को कहा था कि उसके द्वारा किसी कारोबारी से रंगदारी नहीं मांगी गई है। अमन ने पुलिस को बताया था कि उसके गिरोह के लोग रंगदारी मांगने से पहले रेकी करते हैं कि कारोबारी रंगदारी देने में सक्षम है या नहीं। इसके बाद पुलिस ने जिस नंबर से रंगदारी की मांग की गई थी उसका डिटेल खंगालना शुरू किया. तब जाकर पुलिस अमित चौधरी तक पहुंच पाई।
गौरतलब है कि राजधानी में रहने वाले कारोबारियों के बीच मयंक सिंह के नाम का खौफ हो चुका था। लेकिन पुलिस ने दोनों कारोबारियों से कहा था कि मयंक सिंह नाम का कोई भी अपराधी नहीं है। इस वजह से डरने की कोई जरूरत नहीं है। मयंक सिंह के नाम पर इससे पहले भी कई कारोबारियों से रंगदारी की मांग की जा चुकी है।

%d bloggers like this: