अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

गलती से लीक हुई 4 हजार पेज की UN रिपोर्ट से सनसनी, 2050 में महाप्रलय का दावा

यूनाइटेड नेशन के क्लाइमेट चेंज पर रिसर्च करने वाले इंटरगवर्नमेंटल पैनल की रिपोर्ट गलती से लीक हो गई। इस रिपोर्ट में दावा किया गया है कि अभी तो बुरा समय आया ही नहीं है। ये 2050 में आएगा जब भूख और भीषण गर्मी (Heat Wave) की वजह से धरती से करोड़ों लोग मौत के मुंह में समा जाएंगे।

AFP यूएन द्वारा क्लाइमेट चेंज पर किये जा रहे शोध में सामने आया है कि साल 2050 मानव के लिए सबसे बुरा साल होगा। उस साल ऐसी तबाही आएगी कि धरती से करोड़ों लोगों की जान लेकर जाएगी।

यूनाइटेड नेशन की ये रिपोर्ट गलती से लीक हो गई। 4 हजार पेज की इस रिपोर्ट में पर्यावरण में आए बदलावों का जिक्र है। साथ ही इसमें लिखा है कि 2050 तक लाखों लोग भुखमरी के शिकार हो जाएंगे। ऐसा उस समय पड़े सूखे की वजह से होगा। इसके अलावा कई ग्लेशियर्स तेजी से पिघलेंगे। इससे ग्लोबल वार्मिंग बढ़ेगी। अभी तापमान एवरेज पांच डिग्री फॉरेनहाइट तक बढ़ रहा है। ऐसे में 2050 में महाप्रलय मच जाएगी। पर्यावरण में आए कई बदलावों को इंसान झेल नहीं पाएगा। नतीजा होगा पृथ्वी से करोड़ों लोगों की मौत।

अगले 27 साल हैं भारी

क्लाइमेट चेंज पर संयुक्त राष्ट्र के इंटरगवर्नमेंटल पैनल ऑन क्लाइमेट चेंज (आईपीसीसी) की रिपोर्ट अगले साल जारी होने वाली थी लेकिन इससे पहले ही ये रिपोर्ट एजेंस फ्रांस-प्रेस (एएफपी) के हाथ लग गई। इस रिपोर्ट में कहा गया है कि अगले 27 साल तक हर साल पृथ्वी का तापमान 2.7 डिग्री फ़ारेनहाइट (1.5C) से भी ज्यादा बढ़ेगा, जिसके गंभीर परिणाम हमें 2050 में देखने को मिलेंगे। रिपोर्ट के अनुसार, ये परिणाम 2050 तक सामने आने वाले हैं और संभावित रूप से दुनिया भर में130 मिलियन लोगों को भुखमरी का सामना करना पड़ेगा। 350 मिलियन लोग सूखे में प्रभावित होंगे और 420 मिलियन अधिक लोगों को हीटवेव का सामना करना पड़ेगा।

%d bloggers like this: