अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

गूगल के लगभग 600 कर्मचारियों ने जबरन कोविड टीकाकरण के खिलाफ किये घोषणापत्र पर हस्ताक्षर


वाशिंगटन:- सर्च इंजन गूगल के करीब 600 कर्मचारियों ने एक घोषणापत्र पर हस्ताक्षर कर अपने नियोक्ता को कार्यालयों में लौटने से पहले सभी कर्मचारियों के अनिवार्य कोविड-19 टीकाकरण की शर्त वापस लेने के लिए कहा है।
सीएनबीसी ने यह जानकारी दी है। अमेरिका के जो बिडेन प्रशासन ने चार नवंबर को कहा कि 100 से अधिक कर्मचारियों वाली कंपनियों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि उनके प्रत्येक कर्मचारी को या तो पूरी तरह से टीका लगाया गया हो या साप्ताहिक आधार पर उनकी कोरोना जांच करायी जाये।
इसी आधार पर गूगल ने अपने 1,50,000 से अधिक कर्मचारियों को दिसंबर की शुरुआत तक कंपनी के पोर्टल पर अपनी टीकाकरण स्थिति अपलोड करने के लिए कहा। कंपनी ने यह निर्देश भी दिया कि सरकार के निकट संपर्क में काम करने वाले कर्मचारियों को कार्यालय में न आने पर भी टीकाकरण करवाना होगा।
सीएनबीसी ने बताया कि हस्ताक्षरित घोषणापत्र में कंपनी के मालिकों से टीकाकरण को लेकर एक नया आदेश लागू करने का आग्रह किया गया है, जिसमें सभी कर्मचारियों को शामिल किया जाये। घोषणापत्र में कर्मचारियों को सैद्धांतिक रूप से अनिवार्य टीकाकरण की शर्त का विरोध करने के लिए भी कहा गया है और यह भी कहा गया है कि यदि उन्होंने पहले से ही कोरोना वैक्सीन नहीं लेने का फैसला किया है, तो उस पर अडिग रहना चाहिए।
गूगल हालांकि कर्मचारियों के इस विरोध के बावजूद अपनी नीति पर कायम है।
सीएनबीसी ने गूगल के एक प्रवक्ता के हवाले से कहा, “जैसा कि हमने अपने सभी कर्मचारियों से कहा है कि हमारी टीकाकरण आवश्यकताएं हमारे कार्यबल को सुरक्षित रखने और अपनी सेवाओं को चालू रखने के सबसे महत्वपूर्ण तरीकों में से एक हैं। हम अपनी टीकाकरण नीति के साथ मजबूती से खड़े हैं।”
गूगल के कर्मचारियों को 10 जनवरी से सप्ताह में तीन दिन कार्यालय में काम करने के लिए आने को कहा गया है।

%d bloggers like this: