पूर्णिया के बनमनखी गोरे लाल मेहता महाविद्यालय के खेल मैदान में आयोजित राजग गठबंधन की सभा को संबोधित करते हुए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पिपक्षी दल के किसी भी नेता का नाम लिए बेगेर जम कर हमला किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि अब चुनाव का दौर शुरु है इस गर्मी के मौसम में ही यह लगातार चलता रहेगा।

मुख्य्मंत्री ने कहा कि पूर्णियां जिला में मतदान का समय 18 अप्रैल तय है। लेकिन इसके बाद पूरे बिहार में सात चरण में चुनाव होगा।साथ ही उन्होंने कहा कि लोगों की उपस्थिति इस बात को दर्शाती है की लोगों में अपने वोट के अधिकार के प्रति बहुत बड़ी जागृति है यह सबसे बड़ी बात है। लोगों को मालूम है कि उनके वोट से ही कोई जीतेगा और जिस पार्टी-गठबंधन को बहुमत मिलेगा उसी की सरकार बनेगी।

आप सभी जनता मालिक है,कोई अगर भरम पालता है कि वह सब कुछ है तो ऐसा कुछ नहीं है। इस लोकतांत्रिक व्यवस्था में देश में मालिक आप हैं, आप जो चहियेगा वही होगा। इसलिए आप सब से हम लोग विनम्र निवेदन करने आए हैं कि आप एनडीए के जनता दल यू के उम्मीदवार संतोष कुशवाहा को फिर से तीर छाप के तीन नंबर पर बटन दबा कर जितायें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आपने खुद अनुभव किया है केंद्र की सरकार ने पिछले 5 वर्षों में जनहित में एक नहीं अनेकों काम किए हैं और जो अभी राज्य की सरकार है जिसे आप ने सेवा करने का अवसर दिया है। हम तो पूरे बिहार में सेवा ही करते रहे हैं। उन्होंने कहा हम कि लोगों का लक्ष्य हीं न्याय के साथ विकास करना है और न्याय के साथ विकास का मतलब है हर इलाके का विकास करना और समाज के हर तबके का कल्याण करना और उसी रास्ते पर हम लोग वर्ष 2005 के नवंबर से लगातार चलते आ रहे हैं।

अब यह स्थिति देख लीजिए कितना बड़ा परिवर्तन आया है कि लोग जिन चीजों की कल्पना नहीं करते थे आज वह अपनी नजरों से देख रहे हैं। उसका फायदा भी उठा रहे हैं। क्या हालत थी लोगों को चलने में, पूर्णिया आने में लोगों को कितनी तकलीफ होती थी,अब आप बताइए सड़क का जितना निर्माण किया गया है। उतना हीं पुलों का जितना निर्माण किया गया है। हम लोग का तो लक्ष्य प्रारंभ से ही रहा है कि हर गांव को सड़क से जोड़ देंगे,पक्की सड़क से जोड़ देंगे, और उस पर काम भी किया है। मुख्यमंत्री श्री कुमार ने जनता को संबोधित करते हुए कहा कि लगभग सभी सड़कों को पक्की सड़क से जोड़ दिया गया है। जब यह पता चला की कुछ गांव की सड़कें को मिलकर कुल साढ़े चार हजार गांव में छोटी-छोटी सड़के कच्ची है तो उसके लिए भी हमने सात निश्चय योजना बना दिया है। हर टोला को भी पक्की सड़क से जोड़ना है। मुझे खुशी है उसका लगभग एक तिहाई काम हम लोग पूरा भी कर लिए हैं। जो बचा भी है उसे वर्ष 2020 तक में पूरा कर दिया जायेगा।

उन्होंने कहा कि हर क्षेत्र में न्याय के साथ विकास का काम बड़े ही तेजी से हो रहा है। चाहे वह सड़क का निर्माण हो,पुलों का निर्माण हो,बिजली की आपूर्ति की बात हो या अन्य जो भी मसले हो निर्धारित समय पर की जा रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि शिक्षा का क्षेत्र हो या स्वास्थ्य का क्षेत्र हो या फिर समाज कल्याण के क्षेत्र में भी बेहतर काम किया गया है, उन्होंने जनता को संबोधित करते हुए कि आप जान लीजिए बिहार में महिलाओं की आवादी लगभग आधी है फिर भी उनको वह अधिकार नहीं था। नारी सशक्तिकरण के लिए बिहार में जो हमारी सरकार ने काम किया गया है वह एक उदाहरण बन कर आज पूरे देश में प्रस्तुत हो रहा है। उन्होंने कहा बिहार पहला राज्य है जहां हम लोगों ने महिलाओं को पंचायती राज व्यवस्था में और नगर निकाय में 50% का आरक्षण दिया है। पहले महिलाएं घर से बाहर नहीं निकलती थी आज आपके इलाके की सेवा करने के लिए पुरे बिहार में एक लाख से भी ज्यादा की संख्या में महिलाएं जनप्रतिनिधि हो गई है,और वह अपने घर से निकल कर समाज की सेवा करने में जुटी हुई है।

नीतीश कुमार ने कहा कि जिस तरह से हम ने महिलाओं की सशक्तिकरण के लिए जीविका योजना के अंतर्गत स्वयं सहायता समूह का गठन किया है आज उसका सीधा लाभ महिला उठा रही है। आज लगभग बिहार के एक करोड़ परिवार को स्वयं सहायता समूह से जोड़ा जा चुका है। महिलाओं में आज कितनी जागृति आ गई है यह आप सब खुद अनुभव कर रहे हैं। पहले बच्ची स्कूल बहुत कम संख्या में जाती थी। प्राथमिक विद्यालय तक ही किसी तरह वह पढ़ पाती थी। लेकिन हमने जब पोशाक योजना की शुरुआत की तो वही बच्ची मिडिल स्कूल में जाने लगी और उसके बाद साइकिल योजना लागू किया तो हाई स्कूल तक बिहार की लड़कियां जाने लगी है। उन्होंने कहा कि जब हमने यह काम शुरू किया था तो पूरे बिहार में नौवीं क्लास तक पढ़ने वाली लड़कियां की संख्या मात्र एक लाख 70 हजार से भी कम थी। अब यह जान लीजिए लड़कियों की संख्या लड़कों के बराबर हाई स्कूल तक में हो चुकी है जिसकी संख्या 9 लाख को पार कर चुकी है। उन्होंने कहा कि हमने सब की सेवा की है सबके लिए काम किया है।

पहले कौन कल्पना करता था कि लड़कियां साइकिल चला कर स्कूल जाएगी, कोई सोचा भी नहीं था कि लड़कियां साइकिल चलाकर समूह में स्कूल जाने लगी। समाज का दृश्य बदल गया, लोगों की सोच बदल गई और लड़कियों के मन में भी उदगार पैदा हुआ,उनकी भी अभिलाषा बढ़ी और उनको भी ऐसा लगने लगा कि हम भी आगे बढ़ सकते हैं और बढ़ भी रहे हैं। आज हर क्षेत्र में लड़कियां आगे बढ़ने लगी है। आज जो भी परीक्षा हो रही है उसका जब रिजल्ट आता है तो आप सोच लीजिए ऊपर से 10 नंबर के बीच में लड़कियों की संख्या ज्यादा आ रही है।

उन्होंने कहा कि अब जब लड़की साइकिल चलाकर स्कूल जाने लगी तो लड़कों को भी थोड़ा बहुत लगने लगा कि लड़कियां स्कूल जाने लगी है और सरकार इसको साइकिल भी दे रही है। जगह-जगह जब हम जाते थे तो कई जगह लड़कों ने भी मुझे कहना शुरू किया अंकल कुछ हम लोगों पर भी ध्यान दीजिए। तब हमने लड़कों के लिए भी साइकिल योजना शुरुआत कर दी। आज लड़का भी साइकिल पर चढ़कर हाई स्कूल जाने लगा है। हर क्षेत्र में काम होने के बाद अब सात निश्चय पर अमल हो रहा है। महिलाओं को राज्य सरकार की सेवाओं में 35% का आरक्षण दिया जाएगा और यह लागू हो गया और आप देखिए पुलिस बल में महिलाओं की संख्या कितनी बढ़ गई है।

हर क्षेत्र में सरकारी नौकरियों में महिलाओं की संख्या बढ़ रही है। हमने हाई स्कूल तक बारहवीं कक्षा तक 10 साल काम किया है। लेकिन हमने देखा की इंटर के बाद हमारे जो विद्यार्थी हैं उसकी संख्या कम होती जा रही है। ग्रेजुएशन एवं उच्च शिक्षा में इसकी संख्या कम होती जा रही है तब हम लोगों ने इसके लिए एक स्कीम बनाई। उन्होंने कहा कि पहले लगभग 13.9% ही छात्र-छात्राएं थी जो इंटर के बाद उच्च शिक्षा में जाती थी। तब हमने सात निश्चय में विधार्थियों के लिए स्कीम बनाई है।

केंद्र सरकार उच्च शिक्षा के लिए 24% दिया तो हम अपने बिहार में इसको 30% तक ले जाने का लक्ष रखा। इसके लिए स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना लागू की गई। हम लोगों ने स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना शुरू की जब बैंक का उतना सहयोग नहीं मिला तो राज्य सरकार ने अपने स्तर से शिक्षा वित्त निगम की स्थापना किया है जिससे अब कोइ भी स्टूडेंट को चार लाख तक की सहायता इस स्कीम ले पायेगे। इस साल बहुत बड़ी संख्या में छात्र छात्राओं ने इसका लाभ भी लिया।

मैं आप सब लोगों को कहूंगा बेटे- बेटियों को पढ़ाइए उच्च शिक्षा में भी भेजिए आपके पास धन नहीं है तो राज्य सरकार के स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना का लाभ उठाइए। अपने बेटे बेटियों को आगे बढ़ाइए। उन्होंने कहा बच्चे आगे बढ़ेंगे तो देश आगे बढ़ेंगा। बिहार में नए मेडिकल कॉलेज की स्थापना की गई है, हर जिले में इंजीनियरिंग कॉलेज की स्थापना, हर सब-डिविजन में पॉलिटेक्निक कॉलेज की स्थापना, हर सब -डिविजन में एएनएम संस्थान की स्थापना,आईटीआई की स्थापना, हर जिले में महिला आईटीआई की स्थापना,जीएनएम संस्थान की स्थापना,पारा मेडिकल इंस्टिट्यूट की स्थापना की गयी है।

बिहार में हम लोग जो भी कोई काम करते हैं वह सब के लिए करते हैं। हमने लक्ष्य रखा था 31 दिसंबर 2018 तक घर घर बिजली का कनेक्शन दे देंगे लेकिन मुझे यह कहते हुए खुशी हो रही है कि 2 महीना पहले ही 25 अक्टूबर 2018 तक हर घर बिजली का कनेक्शन उपलब्ध करा दिया गया है। पहले बिहार में जहां 700 मेगा वाट की बिजली की आपूर्ति होती थी आज उस बिहार में 5200 मेगावाट बिजली की आपूर्ति हो रही है। पहले रात में अंधेरे में लोगों को जाना पड़ता था लालटेन एवं ढिबरी का सहारा लेना पड़ता था और अब हर घर बिजली का कनेक्शन आ गया अब चारों तरफ रोशनी आ गई, अब लालटेन की जरूरत खत्म हो गई है। उन्होंने कहा शराब बंदी लागू करके समाज सुधार का काम किया गया है और जो गरीब तबके के लोग थे गाढ़ी कमाई का पैसा सब शराब में गवा देते थे।

बिहार में जब से शराबबंदी लागू हुआ तब से गरीबों की हालत बेहतर हो गई है। दहेज प्रथा,बाल विवाह के खिलाफ अभियान लगातार चलायी जा रही है। हमें तो बस आपकी सेवा करना है,जबकि बहुत लोगों का लक्ष्य कुछ और है। आजकल राजनीति में हम देखते हैं कितने लोग जो दूसरी तरफ है अनाप-शनाप बोलते रहते हैं। ना जाने मेरे ऊपर भी क्या बोलते हैं मोदी जी के ऊपर क्या बोलते हैं। उन्हें बस इतना कहना चाहता हूँ की उन्हें अपनी भाषा ठीक रखनी चाहिए। जुबान ठीक रखनी चाहिए। जनता की सेवा करना हम लोगों का लक्ष्य और कुछ लोगों का लक्ष्य सिर्फ सेवा करना नहीं मेवा प्राप्त करना है धन अर्जन करना है और उसके खिलाफ आप सब लोगों को जागरूक रहना होगा। बहुत लोग किसी न किसी प्रकार से लोगों के बीच में भ्रम पैदा करने की कोशिश करते हैं कोई किसी आधार पर समाज को तोड़ने की कोशिश करते हैं।

मैं आपसे विनम्र प्रार्थना करूंगा की वे लोग चाहे कितनी भी कोशिश क्यों न करे,उसके चक्कर में मत आइए। उन्होनें कहा कि हम आपके बीच में यही कहने आए हैं कि हम लोगों ने आपकी खिदमत की है और उसके लिए उस आधार पर हम आपका सहयोग चाहते हैं जो हम काम कर रहे हैं मजदूरी कर रहे हैं। उसकी आप मेहनताना दे दीजिएगा। हमारे लिए मेहनताना यही है कि लोकसभा के चुनाव में आप लोग हम लोगों के उम्मीदवार को तीर का बटन दबाकर भाड़ी मतों से सांसद प्रतियाशी संतोष कुशवाहा को तीर छाप पर बटन दावा के जीता दीजिये।

सभा की अध्यक्षता एवं मंच संचालन भाजपा के जिला अध्यक्ष प्रफुल्ल रंजन वर्मा ने किया।जबकि इस मौके पर बिहार सरकार के केबिनेट मंत्री कृष्ण कुमार ऋषि,धमदाहा विधायक लेसी सिंह,सदर विधायक विजय खेमका,विधान पार्षद डा दिलीप जसवाल,राज्य सभा के सदस्य राम नाथ ठाकुर ने अपने-अपने संबोधन में केंद्र व बिहार सरकार की उपलब्धि की चर्चा करते हुए एनडीए प्रतियाशी संतोष कुशवाहा को विजय बनाने का आह्वान किया। इस मौक़े पर बिहार सरकार के कला संस्कृति एवं युवा मंत्री कृष्ण कुमार ऋषि, बिहार विधानसभा पार्षद डा दिलीप जयसवाल, राज्यसभा सांसद रामनाथ ठाकुर, धमदाहा विधायिका लेसी सिंह, सदर विधायक विजय खेमका, लोजपा के प्रदेश महासचिव शंकर झा उर्फ बाबा,जदयू महानगर अध्यक्ष नीलू सिंह पटेल, जदयू जिला अध्यक्ष शंभू मंडल, भाजपा जिला अध्यक्ष प्रफुल्ल रंजन वर्मा उपस्थित थे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: