अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

आतिशबाजी में 73 हुए जख्मी, रिम्स में भर्ती 13 मरीज आधी रात को भागे


रांची:- दिवाली में आतिशबाजी करते कई लोग जलने से घायल हो गए। इसमें बच्चे से लेकर बड़े भी सभी शामिल थे। आतिशबाजी करते हुए कई लोगों की आंखें जलने से जख्मी हो गई। ऐसे दर्जनों मामले अस्पतालों में पहुंचे। जिसमें से रिम्स और सदर अस्पताल में 73 मरीजों का उपचार किया गया। इसमें रिम्स में एक सात वर्षीय बच्ची भी पहुंची। जो पटाखे जलाते वक्त हल्के रूप से झुलस गई थी। जबकि 7 लोग कश्यप मेमोरियल आई हॉस्पिटल पहुंचे जहां उनका इलाज चल रहा है। बाकी अधिकतर घायलों को इमरजेंसी में मरहम पट्टी कर छोड़ दिया गया। जबकि कुछ को बेहतर इलाज के लिए भर्ती कराया गया। हालांकि इनमें से कोई भी गंभीर मामला सामने नहीं आया। वहीं, निजी अस्पतालों में कुछ मामले आए लेकिन सभी की प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई। इसमें से देवकमल अस्पताल में जलने के अधिक मामले पहुंचे। रिम्स में दीपावली की रात आतिशबाजी में घायल होकर 14 मरीज पहुंचे थे। जिसमें से एक व्यक्ति डेकोरेटिव लाइट लगाते वक्त बिजली के बड़े स्पार्क से जल गया। सभी मरीजों का इमरजेंसी में प्राथमिक उपचार के बाद भर्ती कराया गया। लेकिन आधी रात में ही 13 मरीज बिना किसी सूचना के लामा अस्पताल से चले गए। जबकि इलेक्ट्रिक बर्न वाला मरीज जो 20 प्रतिशत तक जल गया है। उसका उपचार किया जा रहा है। सर्जन डा शीतल मलुआ ने बताया कि अधिकतर मरीजों का हाथ जला था। जबकि सात वर्षीय बच्ची के गर्दन के पास जला था। भाई-बहन के प्यार का प्रतीक भाईदूज व चित्रगुप्त पूजा शहर में होर्षोल्लास के साथ मनाया गया।

%d bloggers like this: