June 13, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

चेन्नई में फंसी दुमका की 36 बेटियों की सकुशल हुई घर वापसी, लॉकडाउन में काम ठप पड़ने से बढ़ गई थी मुश्किलें

धनबाद:- कोरोना संकट और लॉकडाउन के बीच तमिलनाडु में चार महीने से फंसीं दुमका की 36 बेटियां शुक्रवार को झारखंड पहुंच गई। एलेप्पी एक्सप्रेस स्पेशल ट्रेन से उन्हें धनबाद लाया गया, जहां से फिर उन्हें बस के जरिए उनके गृह जिले दुमका पहुंचाया गया। झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन की पहल पर इन 36 प्रवासी महिला कामगारों को सुरक्षित धनबाद लाया गया।
चेन्नई से आई सभी युवतियां झारखंड के दुमका जिले की रहने वाली हैं। रोजगार के लिए वो तमिलनाडु गई थी। सभी सिलाई का काम करती थीं। लॉकडाउन में रोजगार बंद होने से उनके सामने भुखमरी की स्थिति उत्पन्न हो गई। ऐसे में उन्होंने परदेस से वापस लौटने का मन बना लिया लेकिन चेन्नई से झारखंड आने में हो रही परेशानी के कारण वह महीनों से वहां फंसी हुई थीं
एलेप्पी एक्सप्रेस स्पेशल ट्रेन में एक्स्ट्रा कोच जोड़कर सभी 36 महिला कामगारों को धनबाद लाया गया। यहां से सभी को बसों से दुमका रवाना कर दिया गया। फाउंडेशन के सदस्य ने बताया अबतक 14 सौ प्रवासी मजदूरों को देश के विभिन्न राज्यों से रेस्क्यू करकर सकुशल उन्हें उनके घर पहुंचाया गया है। मथुरा प्रसाद महतो ने कहा सूबे के मुख्यमंत्री प्रवासी मजदूरों को लेकर गंभीर है। जहां कहीं भी प्रवासी मजदूर फंसे हैं उन्हें उनके घर लाने का कार्य प्रदेश सरकार संजीदगी से करती आ रही है।

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: