अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

भारतीय डायरेक्ट सेलिंग में 28 प्रतिशत की वृद्धि

नयी दिल्ली:- भारतीय प्रत्यक्ष बिक्री बाजार -डायरेक्ट मार्केटिंग, वर्ष 2019-20 में 28 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 167 अरब 76 करोड़ 20 लाख रूपये का रहा है। केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग राज्यमंत्री सोम प्रकाश ने शुक्रवार को ओनलाइन इंडियन डायरेक्ट सेलिंग एसोसिएशन- आईडीएसए की वार्षिक रिपोर्ट जारी करते हुए कहा कि सरकार देश में कारोबार के अनुकूल माहौल तैयार कर रही है। देश में लोगों को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने में प्रत्यक्ष बिक्री कारोबार का महत्वपूर्ण स्थान है। आईडीएसए को इन अवसरों का फायदा उठाना चाहिए। इंडियन डायरेक्ट सेलिंग एसोसिएशन की अध्यक्ष रिनी सन्याल ने बताया कि कोविड महामारी के बावजूद देश में प्रत्यक्ष बिक्री कारोबार में वृद्धि हुई है। भारी संकट के बावजूद इस क्षेत्र ने लोगों को रोजगार उपलब्ध कराया है। उन्होंने बताया कि वर्ष 2018-19 में प्रत्यक्ष बिक्री बाजार 1,30 अरब 80 करोड़ रूपये का रहा था। उन्होंने बताया कि भारतीय प्रत्यक्ष बिक्री बाजार की वार्षिक मिश्रित वृद्धि दर 18 प्रतिशत रही है। आंकड़ों के अनुसार देश में वर्ष 2019-20 के दौरान कुल प्रत्यक्ष बिक्री में आरोग्य एवं स्वास्थ्य वर्धक उत्पादों की हिस्सेदारी 57 प्रतिशत रही है जबकि सौंदर्य प्रसाधनों की हिस्सेदारी 22 प्रतिशत दर्ज की गयी है। आलोच्य वर्ष में प्रत्यक्ष बिक्री कारोबार से जुड़े लोगों की संख्या 30 प्रतिशत बढ़कर 74 लाख हो गयी है। वर्ष 2018-19 में यह आंकड़ा 57 लाख था। प्रत्यक्ष बिक्री कारोबार में महिलाओं और पुरूषों की भागीदारी लगभग समान है। देश के उत्तरी भाग की प्रत्यक्ष बिक्री कारोबार में सर्वाधिक 28 प्रतिशत की हिस्सेदारी है। इसके बाद पूर्वी भाग की हिस्सेदारी लगभग 26 प्रतिशत है। वर्ष 2019-20 के दौरान प्रत्यक्ष बिक्री कारोबार में 12 प्रतिशत की हिस्सेदारी के साथ महाराष्ट्र शीर्ष पर रहा है। पश्चिम बंगाल को दूसरा स्थान मिला है। इसकी हिस्सेदारी 11 प्रतिशत है।

%d bloggers like this: