अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

ओडिशा में कोरोना संक्रमण के 2070 नये मामले, आंशिक लॉकडाउन,रात्रि कर्फ्यू एक अगस्त तक लागू

भुवनेश्वर:- ओडिशा में 70 दिनों से अधिक समय तक लॉकडाउन और बंद रहने के बावजूद कोरोना वायरस संक्रमण के दैनिक मामले 2000 से अधिक बने हुए हैं, जबकि पिछले कुछ दिनों में इस महामारी के संक्रमण से प्रतिदिन मरने वालों की संख्या 60 से अधिक है। राज्य में कोरोना वायरस की दूसरी लहर आने पर पांच मई से लॉकडाउन, सप्ताहांत बंद और रात्रि कर्फ्यू लागू किया गया था। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के सूत्रों ने कहा कि राज्य के 30 जिलों से पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना संक्रमण के 2070 नये मामले सामने आए हैं, जबकि 14 जिलों में कोरोना वायरस संक्रमण से 64 और मरीजों की जान चली गयी। इनके साथ ही राज्य में कोरोना संक्रमण के कुल मामले 9,49,929 और इससे निजात पाने वालों की कुल संख्या 9,23,209 तक पहुंच गयी है, जबकि अभी तक कुल 4925 लोगों की इस वायरस से मौत हो गयी है। राज्य में हालांकि कोरोना सक्रिय मामले घटकर 21,742 रह गये हैं। राज्य सरकार ने पूरे राज्य में आज से एक अगस्त की सुबह छह बजे तक आंशिक लाकडाउन के साथ-साथ उच्च कोविड मामले दर्ज करने वाले 10 जिलों में रात का कर्फ्यू और सप्ताहांत बंद की घोषणा की है। राज्य सरकार ने जिलों को दो श्रेणी में विभाजित किया है, जिनमें से ए श्रेणी और और प्रचलित परीक्षण सकारात्मकता दर (टीपीआर) के आधार पर विभाजित किया है। राज्य के हांलाकि 20 जिलों को जिनमें से अधिकतर पश्चिम ओडिशा और दक्षिणी ओडिशा से हैं, उन्हें ए श्रेणी में रखा है और तटीय ओडिशा और उत्तरी ओडिशा के 10 जिलों को बी श्रेणी में रखा गया है। दूसरी ओर राज्य सरकार ने इस बार ए और बी श्रेणी दोनों जिलों में लॉकडाउन के दौरान छूट की समय सीमा को बढ़ा दिया है। ए श्रेणी के जिलों में दुकानें सभी दिनों में सुबह छह बजे से रात आठ बजे तक खुली रहेंगी, जबकि बी श्रेणी जिलों में दुकानें सोमवार से शुक्रवार तक सुबह छह बजे से शाम पांच बजे तक खुली रहेंगी और सप्ताहांत बंद जारी रहेगा। सरकार ने 10 जिलों को बी श्रेणी के तहत रखने का फैसला किया है क्योंकि इन जिलों में राज्य में दैनिक कोरोना संक्रमण मामलों का 70 से 80 प्रतिशत हिस्सा है। आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि राज्य में कोरोना संक्रमण दर आज 2.9 प्रतिशत दर्ज की गई क्योंकि 70,244 परीक्षणों में से 2070 मामले संक्रमित पाए गए। इनमें क्वारंटाइन केंद्रों से 1195 और स्थानीय लोगों के संपर्क में आने वाले 875 मामले शामिल हैं।

%d bloggers like this: