November 25, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

कांग्रेस कार्यालय में तोड़फोड़़, ओंकार नाथ सिंह के आवास पर पथराव

घर में घुसकर तोड़फोड़, जान मारने की कोशिश

जमशेदपुर:- मानगो थाना अंतर्गत पोस्ट आफिस रोड कृष्णा नगर स्थित कांग्रेस कार्यालय और कांग्रेस ओंकार नाथ सिंह के आवास पर शनिवार की रात 20 – 25 की संख्या में लोगों ने हमला बोला और तोड़फोड़ की। ओंकार नाथ सिंह के आवास पर भारी पथराव किया गया और घर में घुसकर तोड़फोड़ की गई। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची मानगो पुलिस ने छानबीन शुरू कर दी है। घटना के संबंध में पुलिस ने कई लोगों से पूछताछ की है। ओंकार नाथ सिंह का भी बयान दर्ज किया गया है। हमलावरों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है। घटना के संबंध में जानकारी देते हुए कांग्रेस नेता ओंकार नाथ सिंह ने बताया कि रात करीब 3ः40 में उनके घर पर अचानक पथराव होने लगा। दरवाजे पर भी पत्थर फेंके गए। आवाज सुनकर वे और उनकी पत्नी जग गये।

दरवाजा खोला तो देखा कि सत्यवान गौड़, उसका भाई सरवन गौड़ और उनके पिता निर्मल गौड़ 20 – 25 अज्ञात लोगों के साथ दरवाजे पर खड़े हैं और गाली गलौज किया जा रहा है। पत्थर बरसाए जा रहे हैं। दरवाजा खुलते ही वे लोग जबरन घर के अंदर दाखिल हो गए और बरामदे में रखे सामानों को क्षतिग्रस्त कर दिया। हल्ला हंगामा होने पर वे लोग बाहर निकले तो किसी तरह बचाव में वे और उनकी पत्नी ने दरवाजा बंद किया। ओंकार नाथ सिंह का कहना है कि पहले से ही उन लोगों का गौड़ परिवार से विवाद चल रहा है। वे लोग 4 मर्तबा उनके घर पर इसी तरह हमला कर चुके हैं। वे लोगों मेरी और मेरे परिवार की हत्या करना चाहते हैं। हत्या की नियत से ही वे लोग बार-बार हमला करते हैं। थाना में केस भी दर्ज कराया गया था। वे लोग चाहते हैं कि मैं और मेरा पूरा परिवार घर बेचकर यहां से भाग जाए। झगड़े की वजह के बारे में ओंकारनाथ सिंह का कहना है कि वह मानगो थाना शांति समिति के सदस्य हैं। सामाजिक कार्यों में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेते हैं। इस बात से निर्मल गौड़ और उनका परिवार जलन रखता है। सत्यवान गौड़ और श्रवण गौड़ के खिलाफ या गौड़ परिवार से जुड़े लोगों के खिलाफ अगर पुलिस कार्रवाई करती है तो वे लोग उन पर इस बात का संदेह करते हैं कि वे पुलिस की मुखबिरी करते हैं। उन्हीं की सूचना पर पुलिस कार्रवाई करती है। जबकि पुलिस अपराधिक वारदात होने पर पुलिस छापामारी करती है और उनके खिलाफ कार्रवाई करती है। पुलिस इस क्षेत्र में स्वयं सक्रिय है। वे शांति समिति की बैठक में जाते हैं। पुलिस से उनके तालुकात हैं। इसलिए उन पर इस बात का संदेह किया जाता है कि वह पुलिस को क्षेत्र की सूचना दिया करते हैं। घटना के पीछे का कारण यही बताया जा रहा है। चुकी वह कांग्रेस पार्टी से भी जुड़े हैं ।कांग्रेस के कार्यकर्ता हैं, इसलिए भी वे लोग नजर पर रखते हैं। कांग्रेस कार्यालय में तोड़फोड़ की वजह भी यही है। इस संबंध में पुलिस ने ओंकार नाथ सिंह की पत्नी किरण सिंह के बयान पर सत्यवान गौड़, सरवन गौड़ और निर्मल गौड़ के खिलाफ एक आपराधिक मामला दर्ज कर उसकी जांच शुरू कर दी है। पुलिस का कहना है जिन लोगों के खिलाफ एफ आई आर दर्ज है उनकी गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं।

Recent Posts

%d bloggers like this: