December 5, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

दिगम्बर हांसदा के निधन से झारखंड के शिक्षा जगत को अपूरणीय क्षति: राजेश शुक्ल

झारखंड स्टेट बार कौंसिल के वाईस चेयरमैन एवं वरिष्ठ अधिवक्ता राजेश कुमार शुक्ल
ने प्रसिद्ध शिक्षाविद ,साहित्यकार, और संथाली भाषा के मूर्धन्य विद्वान पद्मश्री डॉ प्रोफेसर दिगम्बर हांसदा के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है तथा उनके निधन को झारखंड की शिक्षा जगत के लिए अपूरणीय क्षति बताया है।

श्री शुक्ल जो अखिल भारतीय अधिवक्ता कल्याण समिति के भी राष्ट्रीय महामंत्री है ने कहा है कि डॉ हांसदा के साथ उन्हें कोल्हान विश्वविद्यालय में दो दो कार्यकाल तक सिंडिकेट सदस्य के रूप में काम करने का अवसर मिला और डॉ हांसदा और श्री शुक्ल ने मिलकर जनजातियों भाषाओं के विकास के लिए मिलकर काम भी किया।

श्री शुक्ल ने कहा है कि डॉ प्रोफेसर हांसदा ने संथाली भाषा के विकास के लिए बहुत काम किया। भारतीय संविधान को संथाली में अनुवाद किया था। श्री शुक्ल ने उनके परिजनों से मिलकर उन्हें संवेदना दी तथा इस कष्ट में अपने को सहभागी बताया।

श्री शुक्ल ने डॉ हांसदा के निधन को अपनी अत्यंत निजी क्षति बताते हुए कहा है कि डॉ हांसदा सदैव झारखंड के शिक्षा जगत में जीवंत बने रहेंगे। श्री शुक्ल ने प्रभु से उनकी आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना किया है।

%d bloggers like this: