November 27, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

सार्वजनिक जल स्रोतों में दिया जा सकेगा संध्या एवं प्रातः कालीन अर्घ्य

चाईबासा:- पश्चिमी सिंहभूम के उपायुक्त अरवा राजकमल के द्वारा जानकारी दी गई कि सुबे के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के अध्यक्षता एवं स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता, मुख्य सचिव सुखदेव सिंह सहित अन्य वरिष्ठ पदाधिकारियों के उपस्थिति में संपन्न बैठक के उपरांत लोक आस्था का महापर्व छठ पूजा मनाने संबंधित दिशा-निर्देश जारी किया गया है। इस जिला के संदर्भ में जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि प्राप्त दिशा-निर्देश के तहत जिले में अवस्थित तालाब-डैम-नदी-पोखर-झील एवं अन्य सार्वजनिक जल स्रोतों में अर्घ्य दिया जा सकेगा परंतु वैश्विक महामारी कोरोनावायरस संक्रमण को ध्यान में रखते हुए आम जनों से अपील है कि संध्या एवं प्रातः अर्घ्य के पावन बेला पर स्वास्थ विभाग द्वारा जारी गाइडलाइन के तहत आपस में 6 फीट की शारीरिक दूरी का अनुपालन आवश्यक रूप से करें एवं वायरस के संक्रमण के प्रसार को रोकने में अपना महत्वपूर्ण योगदान दें।

उपायुक्त के द्वारा आगे बताया गया कि सरकार द्वारा जारी दिशानिर्देश के तहत उपर्युक्त सभी सार्वजनिक स्थानों पर किसी भी प्रकार का मेला का आयोजन एवं स्टॉल लगाने पर पूर्णता मनाही रहेगा, इसके साथ ही सार्वजनिक स्थलों विशेष रुप से जल स्रोतों के आसपास थुकना, पटाखे जलाना, संगीत आधारित सांस्कृतिक कार्यक्रम तथा वैसे सभी कार्यक्रम जिसमें भीड़ इकट्ठा होने की संभावना है ऐसे सभी प्रकार के कार्यक्रमों का आयोजन प्रतिबंधित रहेगा। आम जनों से अपने अपील में उपायुक्त ने कहा है कि छठ पूजा के अवसर पर जहां तक संभव हो अपने घर पर ही अर्घ्य देने की व्यवस्था करें तथा बाहर निकलने के क्रम में मास्क/फेस कवर का प्रयोग करें एवं अपने हाथों को नियमित रूप से साबुन से धोते रहें या सैनिटाइज करें। सरकार द्वारा जारी सभी दिशा निर्देश आपको एवं आपके परिवार को सुरक्षित रखने के उद्देश्य दिया गया है।

Recent Posts

%d bloggers like this: