November 26, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

गोवर्धन पूजा पर परंपरागत तरीके से गायों की पूजा की गयी

भाई दूज के त्योहार को लेकर तैयारियां पूरी

रांची:- गोवर्धन पूजा पर राजधानी रांची समेत राज्यभर में भगवान कृष्ण, गोवर्धन पर्वत और गायों की पूजा परंपरागत विधि-विधान के साथ की जा रही है। इस दिन 56 या 108 तरह के पकवान बनाकर श्रीकृष्‍ण को उनका भोग लगाया जाता है. इन पकवानों को ’अन्‍नकूट’ कहा जाता है. ऐसी मान्यता है कि ब्रजवासियों की रक्षा के लिए भगवान श्रीकृष्ण ने अपनी दिव्य शक्ति से विशाल गोवर्धन पर्वत को छोटी अंगुली में उठाकर हजारों जीव-जतुंओं और इंसानी जिंदगियों को भगवान इंद्र के कोप से बचाया था। इस दिन लोग अपने घरों में गाय के गोबर से गोवर्धन बनाते हैं।

इधर, भाई दूज का त्योहार देशभर में कल 16 नवंबर को मनाया जाएगा। भाई दूज हर साल कार्तिक शुक्ल पक्ष की द्वितीया तिथि को मनाया जाता है। इस दिन बहनें व्रत, पूजा और कथा आदि करके भाई की लंबी आयु और समृद्धि की कामना करते हुए माथे पर तिलक लगाती हैं। इसके बदले भाई उनकी रक्षा का संकल्प लेते हुए तोहफा देता है। ज्योतिषाचार्यों के अनुसार, भाई दूज के दिन शुभ मुहूर्त में ही बहनों को भाई के माथे पर टीका लगाना चाहिए। मान्यता है कि भाई दूज के दिन पूजा करने के साथ ही व्रत कथा भी जरूर सुननी और पढ़नी चाहिए। कहते हैं कि ऐसा करने से शुभ फल की प्राप्ति होती है।

Recent Posts

%d bloggers like this: