December 1, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

अंधविश्वास में बेटी की हत्या,ओझा के कहने पर पिता ने बेटी की बलि चढ़ा दी

रांची:- जिले के पेशरार थाना क्षेत्र के बोंडोबार बोड़ोकोना गांव में पिता ने बेटे की चाहत में ओझा के कहने पर अपनी पांच साल की बेटी की बली चढ़ा दी। हत्यारे पिता सुमन नगेसिया को पुलिस ने शुक्रवार को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। बताया जा रहा है कि ओझा ने सुमन नगेसिया से कहा कि बेटा चाहिए तो अपनी बेटी की बली चढ़ाकर भगवान को खुश करना होगा। इसके बाद मौका देकर पिता सुमन नगेसिया ने अपनी बेटी सुषमा नगेसिया की हत्या कर दी।

मामले की जांच जारी

इंस्पेक्टर चंद्रमोहन हांसदा ने बताया कि बेटी की हत्या के आरोप में पिता सुमन नगेसिया को गिरफ्तार कर को जेल भेज दिया गया है। साथ ही अंधविश्वास में हत्या के लिए उकसाने पर आगे की कार्रवाई हेतु छानबीन की जा रही है।ओझा की भी खोजबीन जारी है।

क्या है मामला

लक्ष्मी पूजा से एक दिन पहले ओझा के चक्कर में आकर बेटे की चाह रखने वाले पिता ने अपनी छह साल की बच्ची की कुल्हाड़ी से काटकर बलि दे दी। मामला जिला मुख्यालय से लगभग 25 किलोमीटर दूर पेशरार थाना क्षेत्र के बोंडोबार बोड़ोकोना गांव का है। घटना बुधवार दोपहर एक बजे की है। वारदात के दौरान घर के अन्य सदस्य धान काटने के लिए खेत की ओर गए थे। इसी बीच घर पर खेल रही छह साल की बेटी सुषमा नगेसिया की कुल्हाड़ी से काटकर हत्या कर दी। घटना की जानकारी के बाद शुक्रवार को हत्यारे पिता सुमन नगेसिया को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

दरअसल, आरोपी पिता को बेटे की चाहत थी। एक ओझा ने सुमन नगेसिया से कहा कि बेटा चाहिए तो अपनी बेटी की बली चढ़ाकर भगवान को खुश करना होगा। आरोपी पिता ओझी की बातों में आ गया। इसके बाद उसने वारदात को अंजाम दे दिया।

मूक-बधिर ने खेत जाकर परिजन को इशारों में दी हत्या की जानकारी

हत्या के दौरान पास में एक मूक-बधिर मौजूद था जिसने सारा घटनाक्रम देख लिया। फिर उसने खेत पहुंचकर बच्ची के परिजन को इशारों में मामले की जानकारी दी। इसके बाद बच्ची की मां और परिवार के अन्य सदस्य शोर मचाते हुए ग्रामीणों के साथ घटनास्थल पर पहुंचे और आरोपी पिता को पकड़ लिया। गुरुवार को घटना की सूचना पुलिस को दी गई। सूचना के बाद पेशरार थाना के इंस्पेक्टर चंद्रमोहन हांसदा एंव पेशरार थाना पुलिस ने बेटी की हत्यारे पिता सुमन नगेसिया को गिरफ्तार कर शुक्रवार को जेल भेज दिया।

बताया गया कि अंधविश्वास में हत्या के लिए उकसाने वाले ओझा की तलाश की जा रही है। पुलिस ने बताया कि हत्यारे सुमन ने पुलिस को बताया कि सुषमा उसकी पहली संतान थी। लेकिन वह चाहता था कि उसे एक बेटा भी हो। इस बात को लेकर वह परेशान रहता था। पत्नी दोबारा प्रेग्नेंट नहीं हो पा रही थी। इस बीच आरोपी सुमन नागेशिया की तबीयत भी खराब हो गई।

बेटे की चाह और तबीयत खराब होने के बाद सुमन हाल ही में एक ओझा से मिला। ओझा ने उसे दीपावली के आसपास या अमावस्या के समय बेटी की बलि देने को कहा। ये बात सुमन के दिमाग में बैठ गई थी। जिसके बाद से वह अपनी बेटी की हत्या करने के फिराक में था। इसी बीच बुधवार को अपनी बेटी को घर पर अकेला पाकर उसने मासूम की हत्या कर दी।

Recent Posts

%d bloggers like this: