November 26, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

दीपावली पर बाजार में दिख रहा है प्रधानमंत्री के मंत्र का असर, बाजार में नहीं दिख रहे चाइनीज लक्ष्मी-गणेश

बेगूसराय:- चीन द्वारा भारतीय सीमा पर सैनिकों के साथ किए गए दुर्व्यवहार के मामले को लेकर राजनीतिक दलों के नेता भले ही बयानबाजी तक सीमित सिमट कर रह जाएं। लेकिन लोगों में चाइनीज बहिष्कार का जबरदस्त असर है। दीपावली को लेकर सजे बाजार में इस बार चाइनीज प्रोडक्ट नाम मात्र के आए हैं। जो दुकान लगाए भी गए हैं, वहां लोगों की भीड़ नहीं है। जबकि स्थानीय प्रोडक्ट और अपने देश में निर्मित वस्तुओं की दुकानों पर भीड़ है। इस वर्ष दुकानदारों ने भी चाइनीज प्रोडक्ट का जबरदस्त प्रतिकार किया है। अन्य साल की तरह बाजार में चीन में निर्मित लक्ष्मी-गणेश की प्रतिमा नहीं दिख रही है। स्थानीय कलाकारों द्वारा निर्मित प्रतिमा के अलावे बाजार में बड़ी संख्या में उत्तर प्रदेश के चुनार से लाए गए प्रतिमा की दुकानें सजी है। सिर्फ जिला मुख्यालय में 50 से अधिक जगहों पर चुनार में बनी लक्ष्मी-गणेश प्रतिमा की दुकान सजी है। ट्रैफिक चौक के समीप लक्ष्मी-गणेश की प्रतिमा का दुकान सजाने वाले रामप्रवेश ने गुरुवार को बताया कि हम करीब दस वर्षों से सीजनल कारोबार कर रहे हैं। सभी पर्व-त्योहार में चाइनीज प्रोडक्ट बड़ी संख्या में लाकर बेचते थे। सस्ता होने और सुंदर दिखने के साथ वह स्थानीय स्तर पर ही बड़े कारोबारी द्वारा उपलब्ध करवा दिया जाता था।

इस साल चीन की मनमानी और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा दिए गए लोकल फॉर वोकल के मंत्र से हम सब प्रभावित हैं। चाइनीज प्रोडक्ट का बहिष्कार कर रहे हैं, हम ना चीन में बने सामान लाएंगे और ना ही वह लोगों के घर तक पहुंचेगा। हम चीन में बने प्रोडक्ट के बड़े आयातक थे, लेकिन वह चीन हमारी ही सेना के साथ दुर्व्यवहार कर रहा है। ऊपर से इधर प्रधानमंत्री जी ने लोकल फॉर फोकल के साथ आत्मनिर्भरता का मंत्र दिया है। हम स्थानीय सब समान बेचेंगे तभी तो हमारा बिहार और हमारा देश आत्मनिर्भर बनेगा। हम सब आर्थिक रूप से सशक्त और आत्मनिर्भर होंगे।

Recent Posts

%d bloggers like this: