November 28, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

कोटा दक्षिण व जयपुर हेरिटेज में महापौर का ताज निर्दलीय पार्षदों के रुख पर निर्भर

जयपुर:- प्रदेश के जयपुर, जोधपुर व कोटा में नवगठित 6 नगर निगमों को मंगलवार दोपहर बाद नए मेयर मिल जाएंगे। कांग्रेस और भाजपा ने छहों निगमों में मेयर पद के लिए अपने प्रत्याशी मैदान में उतारे हैं। हालांकि मेयर बनाने के लिए दोनों ही प्रमुख राजनीतिक दलों को 2-2 नगर निगमों में ही स्पष्ट बहुमत मिला है, जबकि दो नगर निगम में किसका बोर्ड होगा, इसका फैसला आज निर्दलीय पार्षद करेंगे। मेयर चुनाव के दौरान क्रॉस वोटिंग की आशंका बनी हुई है।
मतगणना में तीन नवंबर को आए छहों नगर निगमों के चुनाव परिणामों ने भाजपा-कांग्रेस के दावों पर पानी फेर दिया। इसके बाद से बाड़ाबंदी और खरीद फरोख्त के आरोपों के बीच मंगलवार को इन 6 नगर निगमों को अपना पहला मेयर मिलेगा। सत्तारूढ़ कांग्रेस ने जयपुर, जोधपुर व कोटा के 6 नगर निगमों के चुनाव में से दो में स्पष्ट बहुमत हासिल किया है और दावा किया है कि वो समान विचारधारा वाले निर्दलीय पार्षदों की मदद से 4 निगमों में अपना बोर्ड बनाएगी। वहीं भाजपा भी दो नगर निगम में बहुमत के साथ अपना बोर्ड बनाने में सफल रही है। मेयर चुनाव से पहले इन निगमों में दोनों ही राजनीतिक दलों को क्रॉस वोटिंग का भी डर सता रहा है।

जयपुर ग्रेटर निगम में कुल वार्ड 150 है। यहां कांग्रेस को 49, भाजपा को 88 व निर्दलीय को 13 सीटें मिली है। यहां भाजपा ने सौम्या गुर्जर और कांग्रेस ने दिव्या सिंह को उतारा है। जयपुर हैरिटेज निगम में 100 वार्ड है। इनमें से कांग्रेस को 47, भाजपा को 42 व निर्दलीय को 11 सीटें मिली है। यहां भाजपा ने कुसुम यादव और कांग्रेस ने मुनेश गुर्जर को उम्मीदवार बनाया है। जोधपुर उत्तर निगम में कुल वार्ड 80 है। यहां कांग्रेस को 53, भाजपा को 19 व निर्दलीयों को 8 सीटें मिली है। यहां भाजपा ने संगीता सोलंकी और कांग्रेस ने कुंती परिहार को प्रत्याशी बनाया है।
जोधपुर दक्षिण निगम में कुल सीट 80 है। यहां कांग्रेस ने 29, भाजपा ने 43 और निर्दलीयों ने 8 सीटें जीती है। यहां भाजपा ने वनिता सेठ और कांग्रेस ने पूजा पारीक को एक-दूसरे के सामने उतारा है। इसी तरह कोटा उत्तर में कांग्रेस ने 47, भाजपा ने 14 तथा निर्दलीयों ने 9 सीटें जीती है। यहां भाजपा की संतोष बैरवा और कांग्रेस की मंजू मेहरा आमने-सामने हैं। कोटा दक्षिण निगम में कांग्रेस व भाजपा को 36-36 तथा निर्दलीयों को 8 सीटें मिली है। कांग्रेस को जोधपुर उत्तर और कोटा उत्तर नगर निगम में स्पष्ट बहुमत मिला है, वहीं भाजपा को जयपुर ग्रेटर और जोधपुर दक्षिण में बहुमत मिला है। कोटा दक्षिण और जयपुर हैरिटेज में महापौर का ताज निर्दलीय पार्षदों के रुख पर निर्भर करेगा।

Recent Posts

%d bloggers like this: