December 6, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

बिहार में सरकार ही नहीं सरोकार भी बदल जाएगा और घोषणापत्र की हर बात अक्षरश: लागू होगा- महागठबंधन

पटना:- बिहार विधानसभा चुनाव के आखिरी चरण का मतदान समाप्त होने के बाद महागठबंधन ने प्रचंड बहुमत से राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता तेजस्वी प्रसाद यादव के नेतृत्व में सरकार बनने का दावा करते हुए कहा कि घोषणा पत्र की हर बात को अक्षरश: लागू किया जाएगा।
राजद सांसद मनोज झा, कांग्रेस के विधान पार्षद प्रेमचन्द्र मिश्रा, भारत की कम्युनिस्ट पार्टी मार्क्सवादी-लेनिनवादी (भाकपा-माले) की पाेलित ब्यूरो सदस्य कविता कृष्णन और मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के राज्य मंडल सचिव अरुण मिश्रा ने शनिवार को अंतिम चरण के मतदान के बाद संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा कि राज्य की जनता ने बदलाव के संकल्प को हाथो हाथ लिया और अब श्री तेजस्वी यादव के नेतृत्व में महागठबंधन की प्रचंड बहुमत के साथ सरकार बनने जा रही है। उन्होंने कहा कि नई सरकार जनता से किए गए हर एक वादे को पूरा करेगी। श्री झा ने कहा कि 10 नवंबर को चुनाव नतीजे के बाद राज्य में सरकार ही नहीं बदलेगी सरोकार भी बदल जाएगा। उन्होंने कहा कि अब हर चुनाव में जनता हवाई मुद्दों से अलग अपनी रोजी-रोटी के साथ शिक्षा, स्वास्थ्य और खेती-किसानी पर वोट करेगी। कांग्रेस के विधान पार्षद प्रेमचंद मिश्रा ने कहा कि इस बार के चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और जनता दल यूनाइटेड (जदयू) ने राज्य के मुख्य मुद्दों से लोगों का ध्यान भटकाने की पूरी कोशिश की लेकिन वे इसमें कामयाब नहीं हो पाए। उन्होंने कहा कि महागठबंधन ने रोजगार को मुख्य मुद्दा बनाया और ऐसा पहली बार किसी चुनाव में हुआ कि विपक्ष ने मुद्दा तय किया और उस पर सत्ताधारी दलों को भी आना पड़ा। जनता ने वोट भी उसी मुद्दे पर किया है। श्री मिश्रा ने कहा कि भाजपा-जदयू की सरकार से लोगों में घोर निराशा थी और जब महागठबंधन मजबूत इरादे के साथ भविष्य का खाका खींच कर चुनाव मैदान में उतरा तो निराश लोगों में आशा की किरण जगी। उन्होंने कहा कि महागठबंधन सरकार घोषणापत्र की हर बात अक्षरश: लागू करेगी। भाकपा-माले पाेलित ब्यूरो की सदस्य कविता कृष्णन ने कहा कि चुनाव में भाजपा के पोस्टरों से लग रहा था कि श्री नरेन्द्र मोदी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को छोड़ना चाहते हैं जबकि श्री नीतीश कुमार उन्हें फ्रेम में लाने का प्रयास कर रहे हैं। माकपा नेता अरुण मिश्रा ने कहा कि 10 नवंबर को भाजपा-जदयू की सरकार की विदाई तय है। उन्होंने कहा कि इस चुनाव में महागठबंधन के घटक दलों की एकता का लाभ मिला है।

Recent Posts

%d bloggers like this: