November 24, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

कम्प्यूटर बाबा गिरफ्तार, आश्रम पर चला इंदौर नगर निगम का बुल्डोजर, जानिए पूरा मामला

इंदौर:- मध्यप्रदेश में अपने राजनीतिक संबंधों के कारण चर्चा में रहने वाले रामदेव दास त्यागी उर्फ़ कंप्यूटर बाबा का जम्बूड़ी हप्सी गांव में सरकारी जमीन पर बने आश्रम को रविवार सुबह ढहा दिया गया। और जिला प्रशासन इंदौर ने बड़ी कार्यवाही करते हुए कंप्यूटर बाबा को गिरफ्तार कर लिया है। गोम्टगिरी स्थित आश्रम को बाबा द्वारा 46 एकड़ जमीन पर अवैध रूप से बनाया गया था। जिस पर प्रशासन ने एक्शन लेते हुए अतिक्रमण को हटया और बाबा सहित 6 और लोगों को गिरफ्तार किया है। इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह के निर्देशन में ADM अजय देव शर्मा सहित पुलिस अधिकारियों की टीम आज सुबह की कार्रवाई करने पहुंच गई थी।

5 लोगों को पहले ही किया गिरफ्तार

सूत्रों के मुताबिक अवैध निर्माण पर कार्रवाई करने पहुंची नगर निगम की टीम ने विवाद की आशंका में आज रविवार सुबह ही 5 लोगों को गिरफ्तार कर लिया था। और अब कम्प्यूटर बाबा को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। बड़ी संख्या में पहुंचे पुलिस बल ने अवैध आश्रम को ध्वस्त कर दिया। इसके साथ ही 2 अन्य जगहों पर भी अवैध कब्जा करने की जानकारी सामने आई है। एसडीएम राजेश राठौर और शाश्वत शर्मा ने बताया कि तीन एकड़ जमीन पर कब्जा करके घर बना लिया गया था। किसी तरह का विरोध न हो इसके लिए प्रशासन ने पहले ही पुख्ता इंतजाम कर लिए थे और राजस्व अमले के साथ गांधी नगर थाने की पुलिस बड़ी संख्या में मौके पर मौजूद थी।

दो माह पहले भेजा था नोटिस

जानकारी के अनुसार हातोद तहसील के जमूडी हपसी गांव की सरकारी जमीन नं. 610/1 और 610/2 पर कम्प्यूटर बाबा ने अवैध आश्रम बना रखा था। यहां की दो एकड़ भूमि पर निर्मित आश्रम अतिक्रमण कर बनाया गया था। SDM शाश्वत शर्मा ने बताया कि प्रशासन ने इस मामले में दो महीने पहले नोटिस भेजा था। जिसमें जमीन को जल्द से जल्द खाली करने की बात कही गई थी।

अतिक्रमण नहीं हटाने पर लिया एक्शन

प्रशासन के नोटिस के बाद भी बाबा ने अतिक्रमण नहीं हटाया, जिसके बाद नगर निगम की टीम ने जिला प्रशासन के साथ कार्रवाई की। अतिक्रमण वाली जमीन की कीमत 80 करोड़ रुपये बताई गई है। इस जगह पर अब गौशाला का निर्माण किया जाएगा। जिला प्रशासन इस जगह को धार्मिक स्थल के रूप में विकसित करेगा, जिसे लेकर पर पहले ही प्लान बनाया जा चुका है।

प्रशासन को मिली थी शिकायतें

जिला प्रशासन को कम्प्यूटर बाबा के संबंध में निरंतर शिकायतें मिल रही थी। जिनमें आश्रम की अवैध जमीन, सुपर कॉरिडोर में वन क्षेत्र पर अवैध कब्जे के साथ ही एयरपोर्ट क्षेत्र में भी कई विवादित जमीनों पर कब्जा किया गया था। प्रशासन को कम्प्यूटर बाबा के अनेक बैंक अकाउंट की जानकारी भी मिली है, जिनमें असामान्य रूप से राशियां जमा की गई है। जिनकी जांच भी की जा रही है, मामले में आयकर विभाग को भी शामिल किया जाएगा।

Recent Posts

%d bloggers like this: