November 28, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

पूर्वांचल एक्सप्रेस वे पर दूधिया की मौत के बाद आगजनी मामले में 80 अज्ञात ग्रामीणों के विरुद्ध केस दर्ज

अमेठी:- उत्तर प्रदेश के अमेठी में गुरुवार को पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के मिलर टैंकर ने दूध वाले को रौंद डाला था। घटना से नाराज ग्रामीणों ने प्लांट को आग के हवाले करते हुए तोडफ़ोड़ व मारपीट कर दी थी। पहले तो मामला हाथ से निकलता देख पुलिस प्रशासन बैकफुट पर आकर मुआवजे की बात कर रहा था लेकिन रात होते ही पुलिस ने पैतरा खेल दिया। उक्त मामले में अब पुलिस ने करीब 80 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है़। घटनाक्रम के अनुसार बाजार शुकुल थाना क्षेत्र के गांव भटमऊ में पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे फेज-2 का प्लांट और कार्यालय है। गुरुवार सुबह गांव निवासी शिवबरन (52) पैदल दूध देने पूरे बख्तावर गांव स्थित डेयरी गया था। लौटते समय उसे प्लांट के मिलर टैंकर ने रौंद दिया था। हादसे में शिवबरन की मौके पर ही मौत हो गई थी। सूचना पर पहुंचे ग्रामीणों ने प्लांट पर धावा बोल दिया था और वहां मौजूद सुरक्षा गार्डों ने विरोध किया तो ग्रामीण उन पर हमलावर हो गए और प्लांट को आग के हवाले कर दिया था। देखते ही देखते वहां भगदड़ मच गई थी। प्लांट कर्मचारियों ने वहां से भागकर किसी तरह अपनी जान बचाई थी। सूचना मिलते पर डीएम अरुण कुमार, एसपी दिनेश सिंह, एडीएम वंदिता श्रीवास्तव ने पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचकर स्थिति को नियंत्रित किया था। मौके पर पहुंचे डीएम अरुण कुमार ने मृतक शिवबरन के आश्रितों को किसान दुर्घटना बीमा योजना से पांच लाख रुपये व कार्यदाई संस्था गायत्री प्रोजेक्ट की ओर से पांच लाख रुपये मुआवजा दिलाने तथा चालक के खिलाफ केस दर्ज कराने का आश्वासन दिया। इस पर ग्रामीण शांत हो गए। इसके बाद पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया था। इसी मामले में गुरुवार रात बाजार शुकुल थाने में कंपनी की ओर से ग्रामीणों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराया गया है़।

Recent Posts

%d bloggers like this: