December 5, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

13 साल बाद चारों देशों की नौसेनाएं दूसरे दिन भी बंगाल की खाड़ी में कर रही हैं अभ्यास, क्वाड समूह के नौसैन्य अभ्यास से चीन सकते में

नई दिल्ली:- भारत, अमेरिका, जापान और ऑस्ट्रेलिया की नौसेनाओं के बीच शुरू हुए मेगा मालाबार-20 नौसैन्य अभ्यास के पहले दिन ही चीन सकते में आ गया है। 13 साल बाद चारों देशों की नौसेनाएं बुधवार को दूसरे दिन भी बंगाल की खाड़ी में अभ्यास कर रही हैं। इस अभ्यास का दूसरा चरण अरब सागर में होना है। क्वाड समूह के चारों सदस्य देशों के बीच शुरू हुए मालाबार अभ्यास को लेकर चीन को लगता है कि यह उसके प्रभाव को नियंत्रित करने की कोशिश के तहत किया जा रहा है। चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेंबिन ने अमेरिका पर आरोप लगाया है कि वह ‘शीत युद्ध वाली मानसिकता’ के तहत अपने सहयोगियों का एक साझा मोर्चा बनाने की कोशिश कर रहा है। ऑस्ट्रेलिया की रक्षा मंत्री ने इसे एक सुरक्षित, खुले और समावेशी हिन्द-प्रशांत क्षेत्र को समर्थन देने का एक महत्वपूर्ण मौका करार दिया है। इसी तरह भारत में अमेरिका के दूतावास ने इसे हिन्द-प्रशांत में चारों देशों के बीच मजबूत रक्षा सहयोग के प्रति प्रतिबद्धता को जाहिर करने वाला बताया है। अमेरिकी नौसेना की डिस्ट्रॉयर स्क्वाड्रन फिफ्टीन के कैप्टन स्टीवन डीमॉस ने कहा कि भारत, जापान और ऑस्ट्रेलिया इंडो-पैसिफिक में हमारे रणनीतिक साझेदारों का मुख्य आधार हैं। मालाबार जैसे सामरिक रूप से प्रासंगिक अभ्यास हमारे नवियों को एक उच्च अंत में संचालित करने के लिए उपयुक्त है। यह हमारी संयुक्त क्षमताओं को और मजबूत करने और हमारी साझेदारी को बढ़ाने का एक और अवसर है। मालाबार नौसैनिक अभ्यास में भारतीय नौसेना के 5 जहाज हिस्सा ले रहे हैं जिसमें एक सबमरीन भी शामिल है। इस अभ्यास में भारतीय नौसेना की ओर से नाशक रणविजय, युद्ध पोत शिवालिक, अपतटीय पेट्रोल जहाज सुकन्या, फ्लीट सपोर्ट शिप शक्ति और सबमरीन सिंधुराज हिस्सा लेंगी। इसके साथ ही एडवांस्ड जेट ट्रेनर हॉक, लंबी रेंज का समुद्री पेट्रोल विमान पी-81, समुद्री पेट्रोल विमान डॉर्नियर और हैलिकॉप्टर भी इस अभ्यास में हिस्सा ले रहे हैं। भारतीय नौसेना का नेतृत्व फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग ईस्टर्न फ्लीट, रियर एडमिरल संजय वात्सायन कर रहे हैं। इसके अलावा अमेरिकन शिप (यूएसएस) जॉन एस मैक्केन (निर्देशित मिसाइल नाशक), ऑस्ट्रेलिया (एचएमएएस) के एमएच-60 हेलिकॉप्टर समेत बेलारात जहाज (लंबी रेंज का युद्ध पोत) और जापान मैरिटाइम सेल्फ डिफेंस शिप (जेएमएसडीएफ) ओनामी (नाशक) के साथ एसएच-60 हेलिकॉप्टर हिस्सा ले रहे हैं। एक रक्षा सूत्र ने बताया कि नौसैन्य अभ्यास के दूसरे चरण में भारत और अमेरिका एयरक्राफ्ट्स को भी शामिल करेंगे जो अरब सागर में होगा।

%d bloggers like this: