November 28, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

पंचायत व जिला परिषद चुनाव के लिए कांग्रेस रायशुमारी कर बांटेगी टिकट

जयपुर:- राज्य के 21 जिलों में प्रस्तावित 636 जिला परिषद सदस्यों और 4 हजार 371 पंचायत समिति सदस्यों के चुनाव को लेकर नामांकन दाखिल करने की अंतिम तिथि 9 नवम्बर है। इसके लिए नामांकन प्रक्रिया 4 नवम्बर से शुरु होगी। ऐसे में भाजपा-कांग्रेस के पास अपने उम्मीदवारों के नामों पर अंतिम मोहर लगाने के लिए ज्यादा समय शेष नहीं है। भाजपा जहां इन चुनावों के लिए अपनी तैयारियां कर रही हैं तो कांग्रेस ने भी जिला पर्यवेक्षकों को अपने-अपने प्रभार वाले जिलों में पहुंचकर रायशुमारी करने और 5 नवम्बर तक 3-3 नामों का पैनल बनाकर प्रदेश कांग्रेस कमेटी को सौंपने के निर्देश दिए हैं।
कांग्रेस पार्टी के जिला पर्यवेक्षक जो मंत्री या विधायक नहीं है, वे सोमवार रात तक अपने-अपने प्रभार वाले जिलों में पहुंच गए, जबकि विधायक और मंत्री विधानसभा सत्र सोमवार को देर रात तक होने के चलते मंगलवार को अपने प्रभार वाले जिलों में पहुंचेंगे। जिला परिषद और पंचायत समिति सदस्य उम्मीदवारों के नामों को लेकर जिला पर्यवेक्षक अपने जिले के प्रभारी मंत्री, निवृतमान जिला अध्यक्ष, विधायक, विधायक के उम्मीदवार, सांसद उम्मीदवार और वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात करेंगे और टिकट को लेकर रायशुमारी करेंगे।
इन चुनाव में टिकट का मापदंड क्या होगा, इस संबंध में कांग्रेस संगठन कुछ तय नहीं कर पाया हैं, लेकिन जिस तरह से नगर निगम चुनाव में विधायकों की चली है और टिकट उन्हीं के अनुसार दिए गए है। ऐसे में माना जा रहा है कि जिला परिषद और पंचायत समिति के चुनाव में भी विधायकों की राय के अनुसार ही टिकट दिए जा सकते हैं। संगठन के निर्देश पर बांसवाड़ा से पूर्व सांसद रतनसिंह, भीलवाड़ा से पूर्व विधायक गंगा सहाय, बीकानेर से पूर्व सांसद सुभाष महरिया, चित्तौडग़ढ़ से बीज निगम के पूर्व चेयरमैन धर्मेंद्र राठौड़, डूंगरपुर से वक्फ बोर्ड के चेयरमैन खानु खान, सीकर से पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष डॉ. चंद्रभान अपने प्रभार वाले जिलों में पहुंच चुके हैं, जबकि अजमेर के जिला प्रभारी मंत्री प्रमोद जैन भाया, प्रतापगढ़ के भजन लाल जाटव, बाड़मेर के खिलाड़ी लाल बैरवा, बूंदी की शकुंतला रावत, चूरू की जाहिदा खान, जालोर के किशना राम विश्नोई, झालावाड़ के पानाचंद मेघवाल, झुंझुनंू की इंद्राज गुर्जर, नागौर के दानिश अबरार, राजसमंद के गोपाल मीणा, टोंक के मुरारी मीणा और उदयपुर के जगदीश चंद्र मंगलवार को अपने जिलों में रायशुमारी के लिए पहुंचेंगे।

पायलट कैंप के विधायकों को भी दी जिम्मेदारी

पूर्व उप मुख्यमंत्री व पीसीसी चीफ सचिन पायलट के विधानसभा क्षेत्र टोंक और विजेंद्र ओला के विधानसभा क्षेत्र झुंझुनूं में भी यह चुनाव होने हैं। ऐसे में कोई विवाद ना हो, इसलिए टोंक की जिम्मेदारी दौसा विधायक मुरारी लाल मीणा और झुंझुनूं की जिम्मेदारी विराट नगर विधायक इंद्राज गुर्जर को सौंपी गई है। ये दोनों विधायक पायलट कैंप के हैं, इसलिए इन नेताओं को जिम्मेदारी देकर कांग्रेस पार्टी ने किसी भी तरीके के विवाद से छुटकारा पा लिया है।

Recent Posts

%d bloggers like this: