November 28, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

नालंदा में सातवीं बार जीत की आस में नीतीश के ‘श्रवण’

राजगीर:- बिहार में दूसरे चरण में तीन नवंबर को विधानसभा चुनाव में नालंदा जिले में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बेहद करीबी माने जाने वाले ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार सातवीं बार जबकि पूर्व शिक्षा मंत्री हरिनारायण सिंह आठवीं बार जीत का सेहरा बांधने के लिये चुनावी रण में उतरे हैं। विश्‍व के प्राचीनतम नालंदा विश्‍वविद्यालय के अवशेषों को अपने आंचल में समेटे नालंदा जिले में होने वाले विधानसभा चुनाव में राजग, महागठबंधन और क्षेत्रीय पार्टियों के प्रत्याशियों का चुनाव प्रचार चरम पर है। वर्तमान राजनीतिक परिवेश में महागठबंधन और राजग के बीच रोचक मुकाबले की उम्मीद की जा रही है। हालांकि पिछले बार के मुकाबले इस बार का चुनावी समीकरण बदल गया है। जदयू और भाजपा एक बार फिर एक साथ खड़े हैं। राजग के घटक दलों में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा), जनता दल यूनाईटेड (जदयू), हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (हम) और विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) शामिल है। वहीं, महागबंधन में राष्ट्रीय जनता दल (राजद), कांग्रेस और वामदल में शामिल कम्युनिस्ट पार्टी मार्क्सवादी-लेनिनवाद (भाकपा-माले), भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) और मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के उम्मीदवार मिलकर चुनाव लड़ेंगे। नालंदा जिले में वर्ष 2015 के सात विधानसभा सीटों में से पांच पर जदयू, एक पर भाजपा और एक सीट पर राजद ने चुनाव जीता था। नालंदा विधानसभा क्षेत्र से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बेहद करीबी माने जाने वाले जदयू के निवर्तमान विधायक और मंत्री श्रवण कुमार की प्रतिष्ठा दाव पर लगी है। सियासी पिच पर ‘सिक्सर’ लगा चुके श्री कुमार सातवीं बार अपनी दावेदारी पेश कर रहे हैं। महागबंधन की ओर से कांग्रेस से गुंजन पटेल प्रत्याशी बनाये गये हैं। जनतांत्रिक विकास पार्टी के टिकट पर भाजपा के बागी कौशलेंद्र कुमार उर्फ छोटे मुखिया यहां मुकाबले को त्रिकोणीय बनाने में लगे हैं। पिछले चुनाव में जदयू के श्री कुमार ने भाजपा के कौशलेंद्र कुमार को 2996 मतों से पराजित किया था। करीब दो दशक से नालंदा सीट पर श्री श्रवण कुमार का वर्चस्व बरकरार है। यहां से लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के रामकेश्वर सिंह, राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) के जिलाध्यक्ष सोनू कुशवाहा पहली बार चुनाव लड़ रहे हैं। नालंदा से 20 प्रत्याशी मैदान में हैं, जिनमें 18 पुरुष और दो महिला शामिल है। जदयू के श्री कुमार इस सीट से वर्ष 1995, 2000, फरवरी 2005, अक्टूबर 2005 वर्ष 2010, वर्ष 2015 में निर्वाचित हो चुके हैं।

Recent Posts

%d bloggers like this: