November 29, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

लव जिहाद को लेकर सख्त हुई यूपी सरकार, CM योगी ने दे डाली राम नाम सत्य की चेतावनी

लखनऊ:- उत्तर प्रदेश में ‘लव जिहाद’ के बढ़ते मामलों के बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जौनपुर में ऐसे अपराध में शामिल होने वाले लोगों को चेतावनी दी है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि ये लोग राम नाम सत्य की यात्रा के लिए एकदम तैयार रहें। इन्हें किसी भी हालत में बख्शा नहीं जाएगा।
मल्हानी विधानसभा सीट पर 03 नवंबर को उपचुनाव के लिए मतदान होना है। ऐसे में शनिवार को सीएम योगी यहां पर बीजेपी प्रत्याशी के पक्ष में चुनाव प्रचार करने पहुंचे थे। जनसभा को संबोधित करते हुए सीएम योगी ने कहा कि कल इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कहा कि शादी-व्याह के लिए धर्म परिवर्तन आवश्यक नहीं है। नहीं किया जाना चाहिए। इसको मान्यता नहीं मिलनी चाहिए। इसलिए सरकार भी निर्णय ले रही है कि हम लव जिहाद को सख्ती से रोकने का काम करेंगे। एक प्रभावी कानून बनाएंगे। इस देश में चोरी छिपे, नाम छुपाकर और धर्म छुपाकर के जो लोग बहन बेटियों के साथ खिलवाड़ करते हैं, उनको पहले से मेरी चेतावनी है। अगर वे सुधरे नहीं तो राम नाम सत्य है की यात्रा अब निकलने वाली है।
मुख्यमंत्री योगी ने कहा, ‘हमलोग मिशन शक्ति को इसीलिए चला रहे हैं। मिशन शक्ति के माध्यम से हम बेटी और बहन को सुरक्षा की गारंटी देंगे। लेकिन उन सब के बावजूद अगर किसी ने दुस्साहस किया तो ऑपरेशन शक्ति अब तैयार है। ऑपरेशन शक्ति का उदेश्य है कि हम हर हाल में बहन-बेटियों की सुरक्षा और सम्मान की रक्षा करेंगे। इसी दृष्टि से ऑपरेशन शक्ति को आगे बढ़ाने के साथ अब हम चल रहे हैं। न्यायालय के आदेश का भी पालन होगा और बहन-बेटियों का भी सम्मान होगा।’
इसके अलावा उन्होंने कहा कि केंद्र व प्रदेश की सरकार ने कोरोना में जनसेवा का काम किया है। सांसद, विधायक मंत्री जनता को खाद्यान्न पहुंचा रहे थे। सबको राहत पहुंचाने का काम अधिकारी व जनप्रतिनिधियों ने किया। आत्मनिर्भर बनाने का काम भी भारतीय जनता पार्टी ने किया। उन्होंने कहा कि बीजेपी ने कभी जाति के नाम पर वोट नहीं मांगा और न ही कोई योजना ही चलाई।

सीएम योगी ने कहा कि बीजेपी में ही कार्यकर्ता को सीएम व प्रधानमंत्री बनने का मौका मिलता है। उन्होंने कहा कि डेढ़ करोड़ युवाओं को स्वत: रोजगार से जोड़ा गया है। तीस लाख गरीबों को एक-एक आवास दिया गया है। एक करोड़ 24 लाख गरीबों को निशुल्क विद्युत का कनेक्शन दिया गया है। एक लाख 46 हजार गरीब महिलाओं को रसोई गैस दिया गया है। 27 लाख लोगों को पेंशन दिया गया है। कोरोना काल में 24 लाख गरीबों के खाते में पैसा भेजने का काम भी इस सरकार ने किया है।
बता दें कि एक महत्वपूर्ण फैसले में इलाहाबाद हाईकोर्ट ने शुक्रवार को कहा कि महज शादी के लिए धर्म परिवर्तन वैध नहीं है। जस्टिस एससी त्रिपाठी ने प्रियांशी उर्फ समरीन व अन्य की याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए नूरजहां बेगम केस के फैसले का हवाला दिया, जिसमें कोर्ट ने कहा है कि शादी के लिए धर्म बदलना स्वीकार्य नहीं है।

%d bloggers like this: