November 25, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

पाकिस्तान के कबूलनामे के बाद गरमाई सियासत, सुरजेवाला का नड्डा पर पलटवार

नई दिल्ली:- भारतीय वायुसेना के जवान अभिनन्दन के मामले को लेकर पाकिस्तान के कबूलनामे के बाद भारत में सियासत गरमा गई है। पहले जहां भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने राहुल गांधी पर हमला बोला, वहीं अब कांग्रेस पार्टी ने पलटवार किया है। पार्टी प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा है कि दूसरे पर आरोप लगाने से पहले भाजपा को अपने गिरेबां में झांक लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान परस्त भाजपा पहले अपनी वास्तविकता को जाने फिर उलजुलूल बता करे। दरअसल, पाकिस्तान के कबूलनामे के बाद जेपी नड्डा ने राहुल गांधी को निशाने पर लेते हुए कहा कि कांग्रेस के शहजादे को भारत की किसी भी चीज पर विश्वास नहीं है, चाहे वह सेना हो, सरकार हो या हमारे लोग हों। नड्डा ने यह भी कहा कि किसी पर विश्वास ना हो तो राहुल अपने ‘सबसे भरोसेमंद देश’ पाकिस्तान की ही सुन लें। उम्मीद है कि अब तो उनकी आंखें खुलेंगी…। भाजपा अध्यक्ष के इसी हमले पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि नड्डा साहब को बिहार में हार सामने देखकर उलजुलूल बात करने का शौक चढ़ गया है। जानकारी नहीं होने की स्थिति में नड्डा जी कम से कम अमित शाह जी से ही बात कर लेते। उन्होंने कहा कि पिछले चुनाव में अमित शाह की कह कर गए थे कि अगर नीतीश कुमार मुख्यमंत्री बन गए तो पाकिस्तान में पटाखे जलेंगे। तो क्या उन्होंने पाकिस्तान में पटाखे जलवाए नीतीश जी की सरकार बनवाकर। इस दौरान सुरजेवाला ने पीएम मोदी की पाकिस्तान यात्रा पर भी तंज कसा। उन्होंने कहा कि बगैर बुलाए मेहमान के तौर पर जन्मदिन मनाने मनमोहन सिंह जी नहीं बल्कि नरेन्द्र मोदी जी पाकिस्तान गये थे। और उसके रिटर्न गिफ्ट में हमें मिला था पठानकोट का उग्रवादी हमला। इसके बाद कई घटनाओं को सिलसिलेवार तरीके से याद दिलाते हुए कांग्रेस नेता ने कहा कि “याद कीजिए कि पठानकोट एयरबेस की जांच के लिए आईएसआई, जो भारत में आतंकी भेजता है, को शाह और मोदी जी पाकिस्तान से बुलाकर लाए थे। मौलाना मसूद अजहर नाम के उग्रवादी को, जिसने हजारों हिन्दुस्तानियों का कत्ल किया और 26/11 का दोषी है, उसे भाजपा के नेता सीमापार छोड़ कर आए थे। और ये भी याद रखिए कि मध्यप्रदेश के भाजपा आईटी सेल के प्रमुख पाकिस्तान की आईएसआई के लिए हमारी सेना की मुखबरी करते पाए गए थे। इतनी ही नहीं दाउद इब्राहिम की पत्नी को भारत से पाकिस्तान और पाकिस्तान से भारत जाने की इजाजत आप ही लोगों ने दी थी। इसलिए उलजुलूल बात करने से पहले पाकिस्तान प्रस्त भाजपा की वास्तविकता जान लें।”

Recent Posts

%d bloggers like this: