November 28, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

बिहार चुनाव को लेकर बंद रहा सोन नदी नाव घाट, डीसी-एसपी ने किया निरीक्षण

गढ़वा:- बिहार विधानसभा के पहले चरण के चुनाव के मद्देनजर बुधवार को सीमावर्ती क्षेत्रों में पुलिस गश्त तेज रही़ । गढ़वा जिला की सीमा सोन नदी तट के माध्यम से बिहार से जुड़ती है़ । चुनाव के मद्देनजर इन नदी तटों पर नावों का आवाजाही पूरी तरह से बंद कर दी गयी थी़ । उपायुक्त राजेश कुमार पाठक एवं पुलिस अधीक्षक श्रीकांत एस खोतरे स्वयं मोरचा संभाले हुये थे़ । दोनो वरीय पदाधिकारियों ने बिहार सीमा से सटे जिले में स्थित विभिन्न नाव घाटों का निरीक्षण किया़। निरीक्षण के क्रम में उन्होंने जिले के केतार प्रखंड के खैरवा व कांडी प्रखंड के श्रीनगर समेत अन्य नाव घाटों का जायजा लिया़। इस मौके पर उपस्थित प्रखंड विकास पदाधिकारी केतार, प्रखंड विकास पदाधिकारी कांडी व संबंधित थाना प्रभारी को निर्देश दिया कि बिहार चुनाव को ध्यान में रखते हुये झारखंड राज्य से बिहार राज्य में आवागमन को पूर्णतया प्रतिबंधित करना सुनिश्चित करे़ं । निरीक्षण के दौरान उन्होंने चेक पोस्ट पर प्रतिनियुक्त पदाधिकारियों व पुलिस बल से नाव घाटों के माध्यम से लोगों के आवागमन के विषय में जानकारी भी ली।़ उन्होंने लोगों को चुनाव के समय आवागमन पर रोक संबंधी निर्देश का ठीक प्रकार से पालन करने की बात कही़ । उपायुक्त के निर्देशानुसार मंगलवार से ही इन घाटों पर आवागमन प्रतिबंधित किया गया था़। इस अवसर पर उपायुक्त व पुलिस अधीक्षक के अलावा अनुमंडल पदाधिकारी गढ़वा जियाउल अंसारी, अनुमंडल पदाधिकारी श्रीबंशीधर नगर जयवर्धन कुमार, प्रखंड विकास पदाधिकारी केतार संदीप अनुराग टोपनो, प्रखंड विकास पदाधिकारी कांडी जॉन टुडू तथा केतार, कांडी व हरिहरपुर ओपी के थाना प्रभारी उपस्थित थे़ ।

तीन दिन बंद रखा गया सोन नदी घाट पर आवागमन

बिहार व झारखंड की सीमा के बीच स्थित केतार सोन नदी के विभिन्न नाव घाटों पर आवागमन पूरी तरह से बंद रही़ । इस वजह से दोनो राज्यों के लोग नदी पार नहीं कर सके़ केतार में नाव घाट पर प्रतिबंधित आवाजाही पर नजर रखने के लिये दंडाधिकारी के रूप में कनीय अभियंता देवकुमार सिंह को प्रतिनियुक्त किया गया था़। साथ ही उपायुक्त राजेश कुमार पाठक एवं एसपी श्रीकांत एस खोतरे ने भी घाट पर पहुंचकर स्थिति का मुआयना की़ । सोन नदी उस पार बिहार जाने वाले तथा सोन नदी इस पर झारखंड आने वाले लोगों के बारे में दोनों अधिकारियों ने दंडाधिकारी से पूछताछ की। इस पर प्रतिनियुक्त कर्मियों द्वारा उन्हें बताया गया कि तीन दिन पूर्व से सोन नदी उस पार बिहार राज्य के सभी नाव को बंद कर दिया गया है। इसके कारण इस तरफ से उस तरफ के लोगों का आना जाना पूरी तरह बंद है. बताया गया कि थाना क्षेत्र के खैरवा, पाचाडुमर, परती कुश्वानी सोन नदी घाट पर एक सप्ताह पूर्व से ही नाका लगाकर प्रशासन द्वारा लोगों की आवाजाही पर पैनी नजर रखी जा रही थी। इधर केतार पहुंचे दोनो अधिकारी उपायुक्त व एसपी ने प्रखंड कार्यालय और केतार थाना का निरीक्षण कर विधि व्यवस्था का जायजा लिया।इस मौके पर एसडीएम जयवर्धन कुमार, पुलिस इंस्पेक्टर रामजी महतो, थाना प्रभारी जयनाथ उराँव आदि उपस्थित थे।

Recent Posts

%d bloggers like this: