November 29, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

बंगाल सरकार ने चिकित्सा प्रतिष्ठानों से मांगी स्वास्थ्य कर्मियों की सूची, वैक्सीन उपभोक्ताओं की बन रही लिस्ट

कोलकाता:- पश्चिम बंगाल सरकार ने सभी राज्य-संचालित और निजी चिकित्सा प्रतिष्ठानों को स्वास्थ्य देखभाल कर्मचारियों (एचसीडब्ल्यू) और अन्य स्वास्थ्य कर्मियों का विवरण भेजने के लिए कहा है, जिन्हें प्राथमिकता के आधार पर कोविड -19 टीका लगाया जाएगा। एक अधिकारी ने गुरुवार को यह जानकारी दी। स्वास्थ्य विभाग के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि मेडिकल कॉलेजों (एलोपैथिक, होम्योपैथिक और आयुष), स्वास्थ्य केंद्रों, निजी हेल्थकेयर इकाइयों और पॉलीक्लिनिक्स जैसे सभी मेडिकल प्रतिष्ठानों को कर्मियों की सूची भेजने के लिए कहा गया है। उक्त‌ अधिकारी ने कहा, “एचसीडब्ल्यू जैसे फ्रंटलाइन स्वास्थ्य कार्यकर्ता, आशा, पर्यवेक्षक, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता , नर्स और पर्यवेक्षक, स्वास्थ्य पर्यवेक्षक, चिकित्सा अधिकारी (एलोपैथिक डॉक्टर), प्रशासनिक पदों पर शिक्षण और गैर-शिक्षण कर्मचारी और डॉक्टर) , आयुष डॉक्टरों, दंत चिकित्सकों को प्राथमिकता दी जाएगी।” पैरामेडिकल स्टाफ – सभी तकनीशियन, फार्मासिस्ट, फिजियोथेरेपिस्ट, रेडियोग्राफर, वार्ड बॉय, अन्य पैरामेडिकल स्टाफ के साथ-साथ वैज्ञानिक, शोध कर्मचारी, मेडिकल, डेंटल, आयुष, नर्सिंग और पैरामेडिकल स्टूडेंट्स , सपोर्ट स्टाफ और लिपिक और प्रशासनिक कर्मचारियों को भी सूची में शामिल किया जाएगा। अधिकारी ने कहा, “हमने कोविड-19 टीकाकरण के लिए हेल्थकेयर वर्कर्स डेटाबेस के लिए दिशानिर्देश भेजे हैं एक एक्सेल शीट भेजी गई है जिसमें लिस्ट भरी जाएगी। अधिकारी ने कहा कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के निदेशक इसके समन्वय के लिए नोडल अधिकारी होंगे। उन्होंने कहा, “जिलों में मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) के साथ जिलाधिकारी निर्दिष्ट समय सीमा के भीतर सभी डेटा संग्रह गतिविधियों को पूरा करने के लिए जिम्मेदार होंगे।” अब तक, पश्चिम बंगाल सरकार राज्य के सभी निजी और राज्य में संचालित चिकित्सा प्रतिष्ठानों में काम करने वाले सभी स्वास्थ्य कर्मचारियों का पूरा विवरण केंद्र को नवंबर के मध्य तक सौंपने का लक्ष्य निर्धारित किया है। चयनित व्यक्तियों को कोविड-19 वैक्सीन दी जाएगी। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने इस महीने की शुरुआत में कहा था कि केंद्र अगले साल जुलाई तक लगभग 25 करोड़ लोगों को कोरोना रोधक टीका लगाने की योजना बना रहा है। उन्होंने यह भी कहा था कि कोविड -19 प्रबंधन में लगे स्वास्थ्य कर्मियों को प्राथमिकता दी जाएगी ताकि वे तैयार होने के बाद टीके का उचित और समान वितरण सुनिश्चित कर सकें।

%d bloggers like this: