November 24, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

..परिवार की तिजाेरी भरने वाले चाहिए या बिहार को भ्रष्टाचार मुक्त करने वाले : प्रधानमंत्री मोदी

गया/भागलपुर:- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार विधानसभा चुनाव में जनता को मुख्य विपक्षी राष्ट्रीय जनता दल (राजद) एवं कांग्रेस की पूर्ववर्ती सरकार तथा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अगुवाई वाली राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार के चयन में सावधान रहने की नसीहत देते हुए कहा कि यह प्रदेश भ्रष्टाचार से मुक्त होने का हकदार है लेकिन इसे सुनिश्चित कौन करेगा, भ्रष्टाचार में लिप्त होकर केवल परिवार की तिजोरी भरने वाले लोग या भ्रष्टाचारियों से लड़ने वाला। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता श्री मोदी ने शुक्रवार को भागलपुर में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) उम्मीदवारों के पक्ष में आयोजित चुनावी जनसभा में संबोधन की शुरुआत अंगिका भाषा में की और कहा, “भाई-बहिन सब, हम्मे दानवीर कर्ण के ई चंपानगरी आरो मंदार पर्वत, बाबा बासुकीनाथ, बाबा अजगैबी नाथ, श्रृंगी ऋषि के ई पवित्र भूमि के प्रणाम करै छियौन।” उन्होंने राज्य की जनता से पूछा कि बिहार वह स्थान है, जहां लोकतंत्र के बीज बोए गए थे क्या जंगलराज में कभी भी विकास और लोकतंत्र के मूल्य फल-फूल सकते हैं। श्री मोदी ने सवाल किया कि बिहार भ्रष्टाचार से मुक्त होने का हकदार है लेकिन इसे कौन सुनिश्चित करेगा, खुद भ्रष्टाचार में लिप्त लोग या भ्रष्टाचारियों से लड़ने वाले लोग। बिहार विकास का हकदार है लेकिन इसे कौन सुनिश्चित करेगा, वह जिन्होंने केवल अपने परिवार का विकास किया या वह जिन्होंने लोगों की सेवा में अपना परिवार तक भूल गए। बिहार रोजगार और उद्यमिता का हकदार है। यह कौन सुनिश्चित कर सकता है, वह जो सरकारी नौकरी देने को रिश्वत कमाने का जरिया मानते है या जो लोग बिहार के ईज ऑफ डूइंग बिजनेस को बेहतर बनाने का काम कर रहे है। प्रधानमंत्री ने कहा कि बिहार निवेश का हकदार है लेकिन यह कौन सुनिश्चित करेगा, वह जिन्होंने बिहार को जंगलराज बना दिया या जो लोग बिहार को सुशासन दे रहे हैं और उसके विकास में जी-जान से जुटे हैं। बिहार बेहतर कानून-व्यवस्था का हकदार है, यह कौन सुनिश्चित करेगा वह जिसने गुंडों को खिलाया-पिलाया और पाला या वह जिन्होंने गुंडो पर डंडे चलाये। बिहार अच्छी शिक्षा व्यवस्था का भी हकदार है, क्या यह उन लोगों द्वारा सुनिश्चित किया जाएगा जिन्हें शिक्षा का महत्व ही नहीं पता या वह लोग जो राज्य में भारतीय प्रौद्योगिक संस्थान (आईआईटी), भारतीय प्रबंधन संस्थान (आईआईएम) और अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) लाने के लिए चौबीस घंटे काम कर रहे हैं।
श्री मोदी ने इससे पूर्व गया में चुनावी सभा में संबोधन की शुरुआत मगही भाषा में की और कहा, “विश्वविख्यात ज्ञान तथा मोक्ष के परम नगरी विष्णुपद मंदिर के गौरवशाली भूमि पर अपने सबके अभिनंदन करे थियई।” उन्होंने कहा कि बिहार का चुनाव दो कारणों से अहम है। एक तो कोरोना के बीच दुनिया का यह पहला बड़ा चुनाव है, जहां इतनी बड़ी संख्या में मतदान होना है। इसलिए, खुद को सुरक्षित रखते हुए बिहार लोकतंत्र को कैसे मजबूत करता है इस पर सबकी नजर है। उन्होंने कहा कि राजग की जीत के साथ यह चुनाव बिहार की भूमिका को और अधिक मजबूत करेगा।
प्रधानमंत्री ने कहा कि आज भी बिहार की समस्याओं की जड़ में 90 के दशक की अराजकता है। आज के समय में बिहार का लगभग हर गांव सड़क से जुड़ गया है। प्रधानमंत्री सड़क योजना के तहत 22 हजार करोड़ रुपये की सड़कें बनाई गई। आज बिहार में आईआईटी, आईआईएम जैसी संस्थाएं खोली जा रही हैं। उन्होंने कहा कि गया का एक क्षेत्र पूरे विश्व को ज्ञान देने का केंद्र रहा है। यह बड़ी विडंबना है कि जहां भगवान बुद्ध को ज्ञान मिला उस हिस्से को नक्सलियों के गढ़ के रूप में धकेल दिया गया है।
श्री मोदी ने कहा कि प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के तहत बिहार में 23 हजार हेक्टेयर से अधिक भूमि को सिंचाई के दायरे में लाया जा चुका है। मोक्षदायिनी फल्गु के उद्धार के लिए हर जरूरी उपाय किए जा रहे हैं। जल जीवन मिशन के तहत इस दिशा में तेजी से कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि राजग सरकार कुशीनगर में अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डा बना रही है। जब गया-कुशीनगर हवाई मार्ग से जुड़ेगा तो यहां पर्यटन का और विकास होगा। बिहार में तेजी से विकास कार्य किए जा रहे हैं। उन्होंने अपील करते हुए कहा कि नीतीश कुमार की अगुवाई में तेजी से विकास करने वाली सरकार बने इसके लिए कोरोना से बचते हुए मतदान करें। आपका वोट इसलिए जरूरी है ताकि बिहार फिर से बीमार न पड़ जाए।

Recent Posts

%d bloggers like this: