November 24, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

राजग ने अर्थव्यवस्था को किया बर्बाद, बिहार में 19 लाख नौकरी देने का वादा झूठा : राहुल गांधी

नवादा/भागलपुर:- कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार पर देश की अर्थव्यवस्था को बर्बाद करने का आरोप लगाते हुए आज कहा कि इस संकट के समय में बिहार में 19 लाख नौकरी देने का झूठा वादा कर भाजपा युवाओं को गुमराह कर रही है। श्री गांधी ने नवादा और भागलपुर जिले में महागठबंधन उम्मीदवारों के पक्ष में शुक्रवार को आयोजित चुनावी सभाओं को संबोधित करते हुए कहा कि केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार और बिहार की नीतीश सरकार ने बड़े पैमाने पर देश और राज्य की अर्थव्यवस्था को बर्बाद कर दिया है। ऐसे में युवाओं को रोजगार दे पाना संभव हीं नहीं है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री मोदी से पूछा जाना चाहिए कि वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव के समय हर वर्ष दो करोड़ युवाओं को नौकरी देने के उनके वादे का क्या हुआ।कांग्रेस नेता ने आरोप लगाते हुए कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार के युवक एवं युवतियों के लिए कुछ भी नहीं किया है। उन्होंने कहा कि यदि राजग बिहार में फिर से सरकार बनने के बाद 19 लाख लोगों को नौकरी देने का वादा कर रहा है तो उससे पूछा जाना चाहिए कि तब वह इतनों दिनों से क्या कर रहा था। श्री गांधी ने कहा कि श्री मोदी और श्री कुमार ने आज तक जनता के लिए नहीं बल्कि कुछ चुने हुए वर्ग के लोगों के लिए ही काम किया है। श्री मोदी को कभी भी किसान, युवा और गरीबों की चिंता नहीं रही। श्री मोदी ने हमेशा मुकेश अंबानी और अडाणी जैसे उद्योगपतियों के लिए कमा किया है। देश के हवाइअड्डे, रेलवे एवं अन्य सार्वजनिक संपत्तियां अंबानी और अडाणी को बेचा जा रहा है।
कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि मोदी सरकार ने नोटबंदी कर छाेटे कारोबारी, किसान और गरीबों की कमर तोड़ दी है। इसके बाद कोरोबारियों के लिए वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) एक और बड़ा झटका साबित हुआ। उन्होंने कहा कि इन सबके माध्यम से गरीबों और छोटे कारोबारियों की जेब से रुपये निकालकर अंबानी और अडाणी जैसे बड़े उद्योगपतियों को दे दिए गए। इतना ही नहीं मोदी सरकार ने इन पूंजीपतियों के हजारो करोड़ रुपये के ऋण भी माफ कर दिए।
श्री गांधी ने कहा कि नोटबंदी के बाद केवल गरीब, मजदूर एवं आम आदमी को ही बैंक शाखाओं और एटीएम के बाहर कतार में खड़े होने को मजबूर होना पड़ा जबकि मोदी सरकार के पसंद के अंबानी और अडाणी जैसे उद्योगपतियों को तो इसकी जरूरत ही नहीं थी। उन्होंने कहा कि केंद्र की संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार के समय देश की अर्थव्यवस्था तेज गति से आगे बढ़ रही थी लेकिन मोदी सरकार ने उसे पूरी तरह से बर्बाद कर दिया।
कांग्रेस नेता ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर उनके उद्योगपति मित्रों को खूब लाभ पहुंचाने का आरोप लगाते हुए कहा कि देश के सभी समाचार चैनलों पर चौबीस घंटे श्री मोदी को दिखाया जाता है लेकिन उनके (श्री गांधी) भाषणों को नहीं दिखाया जाता। यह श्री मोदी और कुछ कॉर्पोरेट घरानों का जबरदस्त गिरोह बन जाने के कारण हो रहा है। उन्होंने कहा कि लोगों के मन उनके प्रति गलत धारणा बनाने के लिए समाचार चैनलों पर हमेशा उन्हें निशाना बनाया जाता है, जिसका लाभ श्री मोदी को मिलता है।
श्री गांधी ने आरोप लगाया कि चीन की सेना ने भारत के 1200 किलाेमीटर क्षेत्र पर कब्जा जमा लिया है लेकिन प्रधानमंत्री श्री मोदी उन्हें बाहर निकालने के लिए कुछ भी नहीं कर रहे हैं। श्री मोदी देश के लोगों को यह कहकर गुमराह कर रहे हैं कि चीन की सेना ने भारतीय क्षेत्र में प्रवेश ही नहीं किया है। उन्होंने श्री मोदी के बयान कि लद्दाख में हाल ही में शहीद हुए बिहार के जवानों को वह नमन करते हैं को लेकर हमला बोला और कहा कि सच्चाई है कि श्री मोदी ने सेना के हित में कोई काम ही नहीं किया। प्रधानमंत्री हमेशा गरीब, मजदूर, किसान और सेना की बातें किया करते हैं लेकिन सच्चाई कि वह काम केवल कुछ उद्योगपतियों के लिए ही करते हैं।
इस मौके पर राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के वरिष्ठ नेता एवं महागठबंधन के मुख्यमंत्री पद के दावेदार तेजस्वी प्रसाद यादव ने अपने वादों को दुहराते हुए कहा कि उनकी सरकार बनते ही मंत्रिमंडल की पहली बैठक में 10 लाख युवाओं को नौकरी देने के प्रस्ताव को मंजूरी दी जाएगी। उन्होंने कहा कि वह कोई झूठा वादा नहीं कर रहे। सरकार बनते ही वह अपने वादे को पूरा करके दिखाएंगे। उन्होंने कहा कि अभी राजनीति में उनका काफी लंबा करियर है इसलिए उन्हें कोई झूठा वादा करने की जरूरत नहीं है।
श्री यादव ने कहा कि राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव 09 नवंबर 2020 को जेल से बाहर आ जाएंगे। इसके लिए जमानत याचिका दायर कर दी गई है। इसके बाद 10 नवंबर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के लिए सत्ता सुख का अंतिम दिन होगा और इस बार के विधानसभा चुनाव में बिहार की जनता ने उन्हें विदाई देने का मन बना लिया है।

Recent Posts

%d bloggers like this: