November 27, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

दिल्ली दंगा : ताहिर हुसैन की तीन जमानत अर्जियां खारिज

नई दिल्ली:- दिल्ली की कड़कड़डूमा कोर्ट ने दिल्ली दंगों के आरोप में जेल में बंद ताहिर हुसैन की तीन जमानत अर्जियों को खारिज कर दिया है। एडिशनल सेशंस जज विनोद यादव ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये हुई सुनवाई में ये फैसला सुनाया। कोर्ट ने पिछले 21 अक्टूबर को फैसला सुरक्षित रख लिया था। दिल्ली पुलिस की ओर से वकील मनोज चौधरी और ताहिर हुसैन की ओर से वकील केके मनन और उदित बाली ने दलीलें रखीं थीं। पिछले 20 अक्टूबर को मनोज चौधरी ने कहा था कि पुलिस इन मामलों में पूरक चार्जशीट दाखिल करेगी। पहले की सुनवाई के दौरान दिल्ली पुलिस ने बताया था कि वकील मनोज चौधरी चांदबाग पुलिया के पास हुई हिंसा के सभी मामलों की पैरवी करेंगे। ताहिर हुसैन पर दिल्ली दंगों को लेकर कई एफआईआर दर्ज किए गए हैं। कोर्ट ने आज एफआईआर के जिन मामलों में जमानत याचिका पर सुनवाई की, वे तीनों मामले दयालपुर थाने के हैं। एक मामला दयालपुर थाने में दर्ज एफआईआर नंबर 120 का है। एफआईआर में ताहिर हुसैन के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 147, 148, 149, 427, 436 और 120बी के तहत आरोप दर्ज किए गए हैं। दूसरी एफआईआर भी दयालपुर थाने में दर्ज एफआईआर नंबर 117 का है जिसमें भारतीय दंड संहिता की धारा 147, 148, 149, 427, 436 और 120बी के तहत आरोप दर्ज हैं। तीसरा मामला भी दयालपुर थाने का ही है। तीसरा एफआईआर नंबर 80 का है जिसके तहत भारतीय दंड संहिता की धारा 147, 148,149,427,436 और 120बी के अलावा प्रिवेंशन ऑफ डैमेज टू पब्लिक प्रोपर्टी एक्ट की धारा 3 और 4 के तहत मामला दर्ज है। कड़कड़डूमा कोर्ट ने पिछले 21 अगस्त को ताहिर हुसैन के खिलाफ एक एफआईआर में दाखिल चार्जशीट पर संज्ञान लिया था। चार्जशीट में ताहिर हुसैन समेत 15 लोगों को आरोपी बनाया गया है। चार्जशीट में ताहिर हुसैन को मास्टरमाइंड बताया गया है। करीब एक हजार पन्नों की इस चार्जशीट में पार्षद ताहिर हुसैन के भाई शाह आलम समेत 15 लोगों को आरोपी बनाया गया है। क्राइम ब्रांच ने अपनी चार्जशीट में कहा है कि हिंसा के वक्त आरोपी ताहिर हुसैन अपनी छत पर था। ताहिर हुसैन पर हिंसा की साजिश रचने का आरोप है। चार्जशीट में कहा गया है कि हिंसा कराने के लिए ताहिर हुसैन ने एक करोड़ 30 लाख रुपये खर्च किए थे। ताहिर हुसैन के खिलाफ ईडी ने मनी लॉड्रिंग का मामला भी दर्ज किया है। ताहिर हुसैन के खिलाफ धोखाधड़ी, फर्जीवाड़ा और आपराधिक साजिश रचने का आरोप है। ईडी ने कई स्थानों पर छापा मारा जिसमें कई दस्तावेज और डिजिटल डिवाइस मिले। ताहिर हुसैन के पास से व्हाट्सऐप चैट, फर्जी बिल बरामद किए गए। ईडी ने कहा है कि ताहिर हुसैन ने आपराधिक साजिश रचते हुए कई कंपनियों के खाते से पैसे ट्रांसफर किए। इन पैसों से अपराध को अंजाम दिया गया।

Recent Posts

%d bloggers like this: