November 30, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

फ्यूचर-रिलायंस के सौदे को चुनौती देने वाली अमेजन की मध्यस्थता अपील पर जल्द फैसला आने की उम्मीद

नयी दिल्ली:- फ्यूचर और रिलायंस इंडस्ट्रीज के 24,713 करोड़ रुपये के सौदे को चुनौती देने वाली अमेजन की अपील पर एक सदस्यीय मध्यस्थता समिति का फैसला कुछ दिन में आ सकता है। सूत्रों ने मंगलवार को यह जानकारी देते हुए कहा कि मध्यस्थता समिति ने पिछले सप्ताह इस मामले में अमेजन और फ्यूचर ग्रुप की दलीलें सुनी हैं। अमेजन ने फ्यूचर ग्रुप को कानूनी नोटिस जारी करते हुए आरोप लगाया था कि रिटेलर कंपनी ने अपनी 24,713 करोड़ रुपये की परिसंपत्तियां रिलायंस इंडस्ट्रीज को बेचकर ई-कॉमर्स कंपनी के साथ करार का उल्लंघन किया है। सिंगापुर अंतरराष्ट्रीय पंचाट केंद्र में 16 अक्टूबर को इस मामले पर सुनवाई हुई। इस मामले की जानकारी रखने वाले सूत्र ने कहा कि अमेजन विरुद्ध फ्यूचर विरुद्ध रिलायंस के मध्यस्थता मामले में एकमात्र पंच वी के राजाह ने 16 अक्टूबर को सुनवाई की। राजाह सिंगापुर के पूर्व अटॉर्नी जनरल हैं। सूत्र ने कहा कि वह इस मामले में अगले कुछ दिन में अपना निर्णय सुना सकते हैं। अमेजन ने इस घटनाक्रम पर कोई टिप्पणी करने से इनकार किया। इस बारे में फ्यूचर ग्रुप और रिलायंस को भेजे ई-मेल का जवाब नहीं मिला। फ्यूचर-रिलायंस सौदे की घोषणा 29 अगस्त, 2020 को की गई थी। सौदे के तहत फ्यूचर ग्रुप ने अपने खुदरा, थोक और लॉजिस्टिक्स आदि कारोबार को रिलायंस इंडस्ट्रीज की खुदरा इकाई रिलायंस रिटेल वेंचर्स लि. (आरआरवीएल) को बेचने की घोषणा की थी। अमेजन ने पिछले साल फ्यूचर की गैर-सूचीबद्ध कंपनी फ्यूचर कूपंस लि. में 49 प्रतिशत हिस्सेदारी का अधिग्रहण किया था। इसके साथ ही उसे तीन से 10 साल के दौरन समूह की प्रमुख कंपनी फ्यूचर रिटेल के अधिग्रहण का अधिकार मिला था। फ्यूचर कूपंस के पास फ्यूचर रिटेल की 7.3 प्रतिशत हिस्सेदारी है।

Recent Posts

%d bloggers like this: