December 6, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

असम-मिजोरम सीमा विवाद: सोनोवाल ने पीएमओ के अलावा कई से की फाेन वार्ता

मिजोरम के अपने समकक्ष जोरामथांगा से भी सोनोवाल ने की बात

गुवाहाटी:- असम-मिजोरम सीमा विवाद के चलते उत्पन्न घटनाक्रम को लेकर राज्य के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने प्रधानमंत्री कार्यालय और गृह मंत्रालय कार्यालय में टेलीफोन के जरिए बातचीत की। साथ ही मुख्यमंत्री ने मिजोरम के अपने समकक्ष जोरामथांगा के साथ भी चर्चा की। यह चर्चा दोनों राज्यों के सीमा विवाद को लेकर स्थिति को काबू में करने के लिए की गई है। मुख्यमंत्री सोनोवाल असम-मिजोरम सीमा विवाद के बाद उत्पन्न स्थिति को टेलीफोन के जरिए प्रधानमंत्री कार्यालय को अवगत कराया। इसके अलावा उन्होंने सीमाई इलाके में हुई घटना केंद्रीय गृह मंत्रालय कार्यालय को भी अवगत कराया है। जबकि मिजोरम के मुख्यमंत्री के साथ चर्चा करते हुए सोनोवाल ने कहा कि दोनों राज्यों को सीमा पर उत्पन्न परिस्थिति को शांत करने के लिए कदम उठाना चाहिए। सीमाई इलाके में शांति व्यवस्था कायम करने के लिए दोनों राज्यों की सरकारों को मिलकर सहयोग करने का सोनोवाल ने आह्वान किया। उन्होंने कहा है कि विवाद का समाधान बातचीत के जरिए संभव है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में पूर्वोत्तर विकास के नये रास्ते पर अग्रसर है। इस विकास की यात्रा को बरकरार रखने के लिए पूर्वोत्तर के राज्यों में आपसी समझ व भाईचारे को मजबूत बनाने क लिए विवादों से किनारा करते हुए हमें आगे बढ़ना होगा। मुख्यमंत्री सोनोवाल ने कहा कि पूर्वोत्तर के राज्यों के बीच आपसी सहयोग होने से ही भाईचारा और अधिक मजबूत होगा। टेलीफोन के जरिए हुए वार्ता के समय मिजोरम के मुख्यमंत्री जोरामथांका ने दोनों राज्यों के बीच सीमाई इलाके में शांति व्यवस्था को अटूट रखने के लिए मिलकर काम करने का आश्वासन दिया है। उल्लेखनीय है कि असम-मिजोरम सीमा के असम के लायलापुल में वर्तमान में आक्रोश है। शानिवार की रात असम के कछार जिला के लायलापुल में असम-मिजोरम सीमा इलाके में मिजो असामाजिक तत्वों द्वारा हमला करते हुए असम के लोगों के कई घरों में आग लगा दी गयी। मिजो उपद्रवियों ने राज्य के समय पेट्रोल बम से भी हमला किया था। मिजो उपद्रवियों के हमले में असम के लगभग 40 लोग घायल हुए थे, जिसमें एक व्यक्ति की हालत गंभीर बतायी गयी है। असम पुलिस ने इलाके में पहुंचकर स्थिति का जायजा लिया है। विवाद वाले इलाके में दोनों राज्यों की पुलिस अपने-अपने इलाके में तैनात है। स्थिति को जल्द शांत नहीं किया गया तो आने वाले दिनों में हालात और भी चिंताजनक हो सकते हैं।

Recent Posts

%d bloggers like this: