October 27, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

लगातार चौथे महीने घटी मनरेगा के तहत काम की मांग, जानें कारण

नई दिल्ली:- मनरेगा के तहत कार्य की मांग लगातार कम होती जा रही है। सितंबर में लगभग 2 करोड़ परिवारों ने मनरेगा के तहत कार्य हेतु आवेदन किया जबकि अगस्त में यह संख्या 2.02 करोड़ थी। लगातार चौथे महीने मनरेगा की तहत कार्य की मांग में कमी आई है। रिपोर्ट्स की माने तो लॉकडाउन के दौरान जो प्रवासी मजदूर अपने घर लौट गए थे, उनमें से अनेक वापस शहर आ गए हैं। सरकार ने 20 अप्रैल को लॉकडाउन से जुड़ी पाबंदियों में आंशिक छूट प्रदान की थी जिसके बाद मनरेगा के तहत कार्य की मांग में बीते वर्षों की तुलना में कई गुना तेजी आई थी। अप्रैल के आखिरी 10 दिनों में 1.30 करोड़ परिवारों ने मनरेगा के तहत कार्य हेतु आवेदन किया था। मई में यह संख्या 3.46 करोड़ और जून में 4.06 करोड़ पहुंच गई थी।

क्यों आई काम की मांग में कमी?

किन्तु जून के पश्चात इसमें कमी आनी प्रारम्भ हुई। जुलाई से सितंबर तक की अवधि में इसमें लगातार कमी नजर आई। ग्रामीण विकास मंत्रालय का बताना है कि सामान्य मानसून, कृषि गतिविधियों में तेजी और प्रवासी मजदूरों के शहरों की तरफ लौटने से मनरेगा के तहत काम की मांग में कमी आई है। मानसून के दौरान इसमें कमी आती है जबकि गर्मियों के दौरान तथा सूखे पड़ने की स्थिति में इसमें तेजी आती है।

Recent Posts

%d bloggers like this: