October 24, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

बिहार को विकास की राह पर ले जाने के लिए किया काम : मुख्यमंत्री नीतीश

गया/औरंगाबाद/अरवल:- बिहार के मुख्यमंत्री एवं जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार ने कहा कि पिछले पंद्रह वर्ष में उन्होंने बिहार को विकास की राह पर लाने के साथ गांवों की स्थिति को भी पहले से काफी बेहतर बनाया है । श्री कुमार ने शुक्रवार को गया, औरंगाबाद और अरवल जिले के चार विधानसभा क्षेत्र में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) उम्मीदवारों के पक्ष में आयोजित चुनावी जनसभा में अपनी सरकार के पिछले 15 साल के कार्यकाल की उपलब्धियां गिनवाई और कहा कि उन्होंने बिहार को विकास की राह पर ले जाने का काम किया और इस दौरान गांव की स्थिति पहले की तुलना में काफी बेहतर हुई है। उन्होंने इशारों-इशारों में विरोधियों पर निशाना साधते हुए कहा, “मैंने लोगों की सेवा की है, राज्य की बेहतरी के लिए प्रयास किया है और आम लोगों के सुख-दुख में सहभागी रहा हूं इसलिए बिहार की तरक्की के लिए और पहले से जारी विकास कार्यों को आगे बढ़ाने के लिए आप से समर्थन मांगने आया हूं।”
श्री कुमार ने कहा कि बिहार का इतिहास गौरवशाली रहा है। बिहार ज्ञान की भूमि रही है। राजग सरकार बिहार को फिर वही स्थान दिलाने का काम करेगी। उन्होंने कहा कि नयी तकनीक का जितना विस्तार हुआ है उससे सीधे लोगों को रोजगार से जोड़ा जायेगा। प्रत्येक जिले के पॉलिटेक्निक कॉलेज, औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (आईटीआई) में युवओं को नैनो टेक्नोलॉजी एवं ऑप्टिकल फाइबर समेत अन्य आधुनिक तकनीक का प्रशिक्षण दिए जाने की व्यवस्था की जाएगी ताकि उन्हें अधिक से अधिक रोजगार के अवसर उपलब्ध हो तथा वे दूसरों को भी काम दे सकें।
मुख्यमंत्री ने कहा कि अनुसूचित जाति-जनजाति और अति पिछड़ा वर्ग के युवाओं को उद्योग एवं व्यवसाय करने के लिये 10 लाख रुपये की सहायता सरकार देगी, जिसमें पांच लाख रुपये अनुदान और पांच लाख रुपये का ऋण दिया जायेगा। उन्हें नयी तकनीक का ज्ञान होगा और सरकार संसाधन देगी तो कोई भी बिना काम के नहीं रहेगा और किसी को काम के लिये बाहर नहीं जाना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि 12वीं कक्षा उत्तीर्ण करने पर छात्राओं को 10 हजार रुपये से बढ़ाकर 25 हजार रुपये और स्नातक उत्तीर्ण होने पर 50 हजार रुपये सरकार देगी।
श्री कुमार ने कहा कि यदि अगली बार मौका मिला तो हर खेत तक सिंचाई के लिए पानी पहुंचायेंगे और कभी भी सूखा की स्थिति उत्पन्न नहीं होगी। शहर में रहने वाले आवासविहीन-भूमिहीन गरीबों को बहुमंजिला इमारत बनाकर फ्लैट उपलब्ध कराया जाएगा। आठ से 10 पंचायतों पर नयी तकनीक पर आधारित पशु अस्पताल खोले जायेंगे। हर गांव को सड़क से जोडने का काम लगभग हो गया है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि इसके बाद कई गांवों को जोड़ते हुए कोई महत्वपूर्ण स्थान तक जाने वाली सड़क का निर्माण कराया जाएगा। उन्होंने कहा कि शहर और बाजार के इलाके में बाइपास का निर्माण कराया जायेगा। जहां बाईपास के लिए जगह नहीं निकलेगा, वहां फ्लाईओवर का निर्माण कराया जायेगा।
श्री कुमार ने कहा कि उन्हें काम करने में विश्वास है। सेवा ही उनका धर्म है। आगे भी बहुत काम करना है ताकि हमारा बिहार आगे बढ़े। पिछले 15 वर्षों में जब काम करने का मौका मिला तो उन्होंने केवल बिहार के उत्थान के लिए काम किया है। बिहार में कानून का राज कायम हुआ। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के स्तर से हर वर्ष राज्यों के अपराधिक स्थिति की जानकारी दी जाती है। अंतिम बार वर्ष 2018 के जारी रिपोर्ट में इतनी बड़ी आबादी होते हुए भी अपराध के मामले में देश स्तर पर बिहार 23वें स्थान पर पहुंच गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार की विकास दर साढ़े 12 प्रतिशत बढा है। प्रति व्यक्ति आय में 10.5 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। उन्होंने कहा कि हर घर नल का जल पहुंचाने का काम करीब 80 प्रतिशत से अधिक पूरा हो चुका है। पक्की नाली-गली का निर्माण कार्य पूरा होने की स्थिति में है। हर घर शौचालय का कार्य पूरा होने की स्थिति में है। राज्य सरकार की जितनी हैसियत है, उसके अनुसार वह काम कर रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार के स्तर से भी बिहार के विकास के लिए कार्य किये जा रहे हैं।

Recent Posts

%d bloggers like this: