October 25, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

पति की क्रूरता: पत्नी को डेढ़ साल टॉयलेट में बंधक बनाकर रखा, शरीर बन गया ढांचा, ऐसे हुआ खुलासा

पानीपत:- पति-पत्नी का रिश्ता इस दुनिया का सबसे खास रिश्ता होता है। लेकिन हरियाणा के पानीपत जिले दिल को झकझोर देने वाला ये मामला सामने आया हैं। जहां, एक क्रूर पति ने अपनी पत्नी के साथ अमानवीयता की सारी हदें पार कर दीं। आरोपी ने महिला को करीब डेढ़ साल तक एक टॉयलेट में बंध रखा। आलम यह है कि युवती का शरीर ढांचा बन गया है वह खड़ी तक नहीं हो पा रही है।

महिला के शरीर पर लगी हुई थी टॉयलेट

दरअसल, मामले का खुलासा तब हुआ जब आरोपी का दोस्त उसके घर मिलने के लिए गया था। उसने देखा कि घर के एक शौचालय में महिला बंद है, जिसके शरीर पर गंदगी लगी हुई थी। महिला के शरीर पर मैले-कुचैले कपड़े थे। शरीर में बुरी तरह से गंदगी लिपटी हुई थी। शरीर कंकाल की तरह था। बालों में गुच्छे ऐसे पड़ गए थे। उसके शरीर से बदबू आ रही थी। पता चला कि वह दोस्त की पत्नी है। इस बारे में पूछा तो पति ने बताया कि महिला की मानसिक हालत ठीक नहीं है, वह बार-बार शौच कर देती है, इसलिए उसको इस तरह बंद करके रखा है।

पति की क्रूरता पर मामला दर्ज

मामले की जानकारी लगते ही जिले के अधिकारी मौके पर पहुंचे और महिला को मुक्त कराया। इसके बाद एसपी ने संज्ञान लेते हुए पीड़िता की मेडिकल जांच करने के साथ महिला को अपनी मां के पास समालखा भेज दिया। वहीं पति के खिलाफ मामला दर्ज किया गया।

15 में एक दिन देता था खाने..करता था पिटाई

बताया जा रहा ही कि युवक आए दिन अपनी पत्नी की पिटाई करता था। उसे घर से बाहर नहीं निकलने देता था, इसलिए उसे टॉयलेट में बंद करके रखा है। युवक 12 से 15 में एक दिन पत्नी को खाने के लिए देता था। आलम यह था कि भूखी प्यासी महिला जब बाहर निकली तो उसने पहले दो कप चाय पी फिर एक साथ 8 रोटियां खाईं। फिर आसपास के लोग उसको गोद में उठाकर गाड़ी तक लेकर गए, क्योंकि वह चल भी नहीं पा रही थी।

महिला के भाई और पिता की हो चुकी है मौत

आरोपी पति के खिलाफ सवाल खड़े हो रहे हैं। क्योंकि अधिकारियों का कहना है कि अगर महिला की मानसिक हालत ठीक नहीं है तो उसका इलाज कराना चाहिए था। ना कि इस तरह की अमानवीयता करनी चाहिए थी। आरोपी कहने लगा कि हां मैंने इलाज कराया था लेकिन कोई लाभ ही नहीं हुआ। तो पुलिस ने उससे डॉक्टर के कागज मांगे तो वह कोई जानकारी नहीं दे पाया। वहीं पीड़िता अपने पति और बच्चों को पहचान रही है। महिला का मायके में सिर्फ मां है पिता और भाई की पहले ही मौत हो चुकी है।

Recent Posts

%d bloggers like this: