October 28, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

नीलामी प्रक्रिया तैयार करने के लिए दो अमेरिकी अर्थशास्त्रियों को नोबेल पुरस्कार

नई दिल्ली:- अर्थशास्त्र में वर्ष 2020 का नोबेल पुरस्कार (सेवरिज रिवरबैंक पुरस्कार) दो अमेरिकी वैज्ञानिकों पॉल आर मिलग्रोम और रॉबर्ट बी विल्सन को दिया जाएगा। स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से जुड़े दोनों अर्थशास्त्रियों को यह पुरस्कार नीलामी से जुड़े उनके सिद्धांत और नई नीलामी प्रक्रिया के विकास के लिए दिया जाएगा। रॉयल स्वीडिश एकेडमी की ओर से जारी वक्तव्य के अनुसार दोनों वैज्ञानिकों ने नीलामी प्रक्रिया का अध्य्यन किया है। उन्होंने अपनी गहन सोच का इस्तेमाल करते हुए वस्तुओं और सेवाओं को नीलाम करने से जुड़ी नीलामी प्रक्रिया तैयार की। इससे उन वस्तुओं और सेवाओं की बिक्री संभव हो पाई जिन्हें परंपरागत तरीके से नीलाम करना कठिन था। रेडियो आवृत्तियों इसका एक उदाहरण है। इससे बिक्रीकर्ता, खरीददार और दुनियाभर में करदाताओं को लाभ मिला है। एक अधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार मिलग्रोम और विल्सन ने अधिकतम परस्पर राजस्व के बजाय व्यापक सामाजिक लाभ से प्रेरित एक विक्रेता की ओर से एक साथ कई परस्पर संबंधित वस्तुओं की नीलामी के लिए नए स्वरूपों का आविष्कार किया। 1994 में अमेरिकी अधिकारियों ने पहले दूरसंचार ऑपरेटरों को रेडियो आवृत्तियों को बेचने के लिए इनके नीलामी प्रारूपों में से एक का उपयोग किया। तब से कई अन्य देशों ने इस चलन को अपनाया है। पुरस्कार समिति के अध्यक्ष पीटर फ्रेडरिकसन का कहा, “आर्थिक विज्ञान में इस वर्ष के विशेषज्ञों ने मौलिक सिद्धांत के साथ शुरुआत की और बाद में व्यावहारिक अनुप्रयोगों में अपने परिणामों का उपयोग किया, जो वैश्विक स्तर पर अपनाए गए हैं। उनकी खोजों से समाज को बहुत लाभ मिला है।”अपनी शुरुआत 1969 से लेकर अबतक 62 बार अर्थशास्त्र में नोबेल पुरस्कार दिया गया है। इसमें से 25 बार यह केवल एक व्यक्ति को मिला है। अबतक 2 महिलायें इस पुरस्कार को जीत चुकी हैं। पिछले वर्ष यह पुरस्कार भारतीय अर्थशास्त्री अभिजीत बनर्जी को उनकी पत्नी एस्थर डुफ्लो के साथ दिया गया था। अबतक केवल पांच दम्पत्ती एक साथ किसी भी श्रेणी में नोबेल पुरस्कार जीत चुके हैं। हर वर्ष छह क्षेत्रों में दुनिया के सबसे प्रतिष्ठित नोबेल पुरस्कारों की घोषणा की जाती है। सभी श्रेणियों में नाम घोषित किए जा चुके हैं। इससे पहले चिकित्सा, रसायन, भौतिक शास्त्र, साहित्य और शांति के क्षेत्र में नोबेल पुरस्कारों की घोषणा की गई थी। 1901 में पहली बार स्वीडन के वैज्ञानिक अल्फ्रेड बनार्ड नोबेल की याद में इन पुरस्कारों को देने की परंपरा शुरू की गई थी।

Recent Posts

%d bloggers like this: