October 27, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

पाकिस्तानी वायुसेना में समाया ‘राफेल’ का खौफ

एयर मार्शल मुजाहिद अनवर खान ने कहा, राफेल से जल्‍द हमला कर सकता है भारत

बोले, भारत अब ‘कश्मीर से परे और अंतरराष्ट्रीय सीमा पर संघर्ष’ फैलाने का प्रयास करेगा

नई दिल्ली:- पाकिस्तानी वायु सेना में भारत को फ्रांस से फाइटर जेट राफेल मिलने के बाद से हमले का डर सता रहा है। इसका खुलासा खुद पकिस्तान वायुसेना के एयर मार्शल और पाकिस्तानी एयर यूनिवर्सिटी के चांसलर मुजाहिद अनवर खान ने किया है। उन्होंने एक कार्यक्रम में बेहिचक कहा कि भारत निकट भविष्य में पाकिस्तान के अंदर कई लक्ष्यों पर हमला करने के लिए पाक वायु क्षेत्र में गहराई से प्रवेश करेगा। उन्होंने दावा किया कि फ्रांस से मिले मिटयोर मिसाइल से लैस राफेल जेट को वायुसेना में शामिल करने के बाद भारत एक आक्रामक योजना बना रहा है। उन्होंने कश्मीर पर अपने देश की पुरानी बयानबाजी को आगे बढ़ाते हुए कहा कि भारत अब ‘कश्मीर से परे और अंतरराष्ट्रीय सीमा पर संघर्ष’ फैलाने का प्रयास करेगा। पाकिस्तान में सेंटर फॉर एयरोस्पेस एंड सिक्योरिटी स्टडीज के एक कार्यक्रम में मुजाहिद अनवर खान के इस बयान से पाकिस्तानी सेना और इमरान खान प्रशासन का डर दिखा। उन्होंने कहा कि भारत का रुख अगले 18-24 महीनों में आक्रमक होगा। फ्रांस से राफेल फाइटर जेट मिलने के बाद एयरोस्पेस डोमेन में अपना प्रभुत्व साबित करने के लिए पाकिस्तान में पांच किमी. तक घुसकर कई तरह के हमले भी कर सकता है। इसके अलावा एयरोस्पेस डोमेन में अपनी श्रेष्ठता पर मुहर लगाने के लिए कई और भी लक्ष्य रख सकता है। उन्होंने यह भी संभावना जताई कि आने वाले दिनों में भारत जल्‍द ही पाकिस्‍तान पर हवाई हमले कर सकता है। उन्होंने इस बात का भी जिक्र किया कि भारतीय वायुसेना के प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया प्रेस कॉन्फ्रेंस में नए राफेल जेट को शामिल करने के बाद चीन और पाकिस्तान के साथ टू-फ्रंट वार को एक साथ संभालने के लिए देश की तैयारियों के बारे में बात कह चुके हैं। उन्होंने यह भी कहा था कि राफेल के आने से भारत की गहराई तक हमले करने की क्षमता बढ़ी है और भारतीय वायु सेना दोनों मोर्चों पर युद्ध सहित किसी भी संभावित संघर्ष के लिए तैयार है।
पाकिस्तानी वायुसेना के एयर मार्शल ने स्वीकार किया कि भारत ने पुलवामा आतंकी हमले के 26 दिनों बाद 26 फरवरी,2019 को पाकिस्तान के बालाकोट में खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में हवाई हमले कर जैश-ए-मोहम्मद के सबसे बड़े प्रशिक्षण शिविर को खत्म कर दिया। एक सटीक एयरस्ट्राइक में भारतीय वायुसेना ने 350 आतंकवादियों और प्रशिक्षकों को सफलतापूर्वक निशाना बनाया। भारत ने पूरी तरह से सशस्त्र मिराज-2000 लड़ाकू विमानों का इस हमले में उपयोग किया। उन्होंने कहा कि भारत की इस ‘प्रीमेप्टिव एंड नॉन-मिलिट्री’ कार्रवाई को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मजबूत नेतृत्व के रूप में देखा गया था। इससे पहले पीएम मोदी ने 15 फरवरी,2019 को कहा था कि आतंकवादियों से निपटने के लिए सुरक्षा बलों को फ्री हैंड दिया जाएगा और पुलवामा हमले के जिम्मेदार लोग बहुत भारी कीमत चुकाएंगे। पाकिस्तानी वायुसेना के एयर मार्शल ने बालाकोट एयर स्ट्राइक में पहली बार पाकिस्तानी लड़ाकू विमान एफ-16 को भारत द्वारा मार गिराए जाने की बात भी कबूली और कहा कि भारतीय वायु सेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्थमान अपनी बहादुरी दिखाने के बाद भी कई दिन पाकिस्तानी हिरासत में बिताए। बालाकोट हवाई हमले के बाद सुबह जब पाकिस्तान ने जवाबी हमला करने की कोशिश की तो भारत के मिग-21 को पाकिस्तान एयरफोर्स के साथ डॉगफाइट में गोली मार दी गई थी।

Recent Posts

%d bloggers like this: