October 21, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

नेपोटिज्म पर खुलकर बोलीं राधिका मदान, कास्टिंग डायरेक्टर ने कहा था कि तुम सुंदर नहीं हो

नई दिल्ली:- बॉलीवुड एक्ट्रेस राधिका मदान को आखिरी बार फिल्म ‘अंग्रेजी मीडियम’ में देखा गया था। इस फिल्म में वह दिवंगत अभिनेता इरफान खान की बेटी की भूमिका में थी। हाल ही में राधिका ने खुलासा किया हैं कि फिल्मी पृष्ठभूमि से न होना, एक बहुत बड़ी कमी मानी जाती है और इस बात से निपटने के लिए उन्हें कड़ा संघर्ष भी करना पड़ा। बॉलीवुड में अपने चुनौतियों से भरे शुरुआती दिनों को राधिका ने याद कर यह बातें कही हैं।
राधिका ने कहा, ‘हम बाहरी लोगों के पास चुनाव करने की विलासिता नहीं है। जब मैंने शुरू किया, तो यह ऐसा नहीं था कि स्क्रिप्ट की एक लाइन मेरे सामने है और मैं डेब्यू करने के लिए निर्देशक या बैनर चुन सकती थी। तब ये तो जो हो रहा है और अच्छा लग रहा हैl वहीं मिल जाएं बस, यहीं लगता है। बाहरी व्यक्ति के रूप में फिल्म इंडस्ट्री में काम मिलना आसान नहीं है।’
उन्होंने आगे कहा कि अंग्रेज़ी माध्यम के बाद वह यह कहने की हिम्मत कर सकती है कि अब उन्हें कम से कम निर्णय करने की स्वतंत्रता मिल गई है। राधिका टीवी से फिल्मों में आई है, उन्होंने स्वीकार किया कि बॉलीवुड में एंट्री करने के लिए फिल्म पटाखा और ‘मर्द को दर्द नहीं होता’ करने को लेकर संदेह था कि अगर उनकी पसंद की फिल्में नहीं चली तो उनके करियर पर क्या असर पड़ता। यह सोचकर ही वह डर जाती हैं। रिजेक्शन का सामना करने वाली राधिका के हाथ से ‘स्टूडेंट ऑफ़ द ईयर 2’ भी चली गई थी। इस बारे में उनसे एक कास्टिंग डायरेक्टर ने कहा था कि
इस बारे में बताते हुए राधिका कहती है, ‘अगर मैं रिजेक्शन के बारे में बात करना शुरू कर दूं तो यह बातचीत लंबी चलेगी। एक स्टार किड के लिए मुझसे प्रोजेक्ट ले लिया गया लेकिन मेरा ऑडिशन भी अच्छा नहीं हुआ था। इसके बाद जब आपको बताया जाए कि आप एक अच्छे कलाकार नहीं और 20 वर्ष की उम्र में कहा जाए कि आप बहुत सुंदर नहीं हैं, तो यह आपके आत्मविश्वास को हिला देता है।’

Recent Posts

%d bloggers like this: