October 22, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

पीयूष गोयल ने की प्रगति मैदान के निर्माण कार्य की समीक्षा

नयी दिल्ली:- केन्‍द्रीय वाणिज्‍य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने शनिवार को दिल्ली के प्रगति मैदान परिसर में निर्माण गतिविधियों की प्रगति की समीक्षा की जिसे एक विश्व स्तरीय एकीकृत प्रदर्शनी-सह-सम्‍मेलन केन्‍द्र (आईईसीसी) के रूप में पुनर्विकसित किया जा रहा है।
बैठक में आवास एवं शहरी कार्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी, प्रधानमंत्री के प्रधान सलाहकार पी के सिन्‍हा, वाणिज्‍य एवं उद्योग मंत्रालय, अंतरराष्ट्रीय व्यापार संवर्धन संगठन , एनबीसीसी तथा एजेंसियों के अधिकारियों ने ऑनलाइन बैठक में भाग लिया। बैठक में निर्माण गतिविधियों के वीडियो और प्रस्तुतियां प्रदर्शित की गयी।श्री गोयल ने निर्माण प्रगति पर संतोष व्‍यक्‍त किया. निर्माण गतिविधियाों पर लॉक डाउन तथा उसके बाद श्रमिकों के पलायन के कारण असर पड़ा. हालांकि जून में इसमें गति आई तथा यह बरकरार है।वर्तमान में निर्माण स्थल पर विभिन्‍न कार्यकलापों में लगभग 4800 श्रमिक कार्यरत है। अधिकांश भवनों के मार्च 2021 तक पूरे हो जाने की संभावना है। भवनों को सौंपे जाने का कार्य जल्‍द ही चरणबद्ध तरीके से आरंभ हो जाने की संभावना है तथा संपूर्ण परियोजना के अक्‍तूबर 2021 तक हस्‍तांतरित कर दिए जाने की संभावना है।क्षेत्र में ट्रैफिक की सुगम आवाजाही के लिए प्रगति मैदान में छह अंडरपास तथा एक मुख्‍य सुरंग होगी। वैश्विक सम्‍मेलनों तथा प्रदर्शनियों के आयोजन के लिए एक आधुनिक, अद्यतन केन्‍द्र के रूप में प्रगति मैदान के पुनर्विकास में सात हजार लोगों के बैठने की क्षमता के साथ एक आधुनिक सम्‍मेलन केन्‍द्र होगा। भारत में 2022 में जी-20 शिखर सम्‍मेलन की मेजबानी की उम्‍मीद है और प्रगति मैदान इसका मुख्‍य स्‍थान होगा।

Recent Posts

%d bloggers like this: