October 31, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

लोकप्रिय हो रही है किसान रेल, अनार, मिर्च, शिमला मिर्च, नींबू, अदरक, मछली हो रहा है परिवहन

नई दिल्ली:- इंडियन रेलवे द्वारा हाल ही में शुरू की गई किसान रेल किसानों के बीच धीरे-धीरे लोकप्रिय हो रही रही है। रेल मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, सेंट्रल रेलवे जोन के सांगोला में हाल ही में 187.41 टन के 15,477 पैकेजों की लोडिंग की है, जो अपने आप में एक रिकॉर्ड है। किसान रेल के जरिए अनार, हरी मिर्च, शिमला मिर्च, नींबू, अदरक, आइस्ड मछली जैसे कृषि उत्पादों को विभिन्न बाजारों तक पहुंचाया जाता है।
जल्द ही फल और सब्जियों के अलावा कंटेनरों में मांस और मछली का भी परिवहन शामिल किया जाएगा। रेलवे ने 10 सितंबर को किसानों की आमदनी बढ़ाने के मकसद से भारत की दूसरी स्पेशल किसान रेल की शुरुआत की थी। ये आंध्र प्रदेश के अनंतपुर से नई दिल्ली के आदर्श नगर के बीच की दूरी तय करेगी। इस ट्रेन का उद्घाटन केंद्रीय कृषि और किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी बुधवार सुबह वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से हरी झंडी दिखा कर किया था।
2022 तक किसानों की आय को दोगुना करने के लक्ष्य को ध्यान में रखते हुए दूर के स्थानों तक कृषि उपज का परिवहन तेजी से करने में मदद के लिए किसान रेल शुरू की जा रही है। सरकार का कहना है कि इस किसान रेल के चलने से आंध्र प्रदेश और कर्नाटक के अनार, खरबूजा, पपीता, अमरूद, टमाटर सहित अन्य फल और सब्जियों की आपूर्ति दिल्ली-एनसीआर के इलाकों में आसानी से हो सकेगी। इससे वहां के किसानों को बेहतर कीमत मिलेगी।
ट्रेन के चलने से दिल्ली और आस पास के इलाकों के लोगों को बेहतर फल और सब्जी की आपूर्ति भी हो सकेगी। ये स्पेशल ट्रेन भारत की दूसरी और दक्षिण भारत की पहली किसान रेल है। देश की पहली किसान रेल महाराष्ट्र के देवलाली से बिहार के दानापुर के लिए पिछले महीने 7 अगस्त 2020 को चलाई गई है। यह साप्ताहिक ट्रेन हैं। भारतीय रेल नेटवर्क के कुछ मार्गों को सरकार द्वारा मैंगो स्पेशल, बनाना स्पेशल, सपोटा स्पेशल, प्याज स्पेशल आदि को चलाने के लिए रूट की पहचान की गई है। किसान रेल किसानों, विशेष रूप से बागवानी फसलों को उगाने वालों के लिए एक वरदान के रूप में आई है, क्योंकि इससे यह सुनिश्चित होगा कि उपज जल्दी बाजारों तक पहुंचे।

Recent Posts

%d bloggers like this: