October 20, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

किसान सम्मेलन की तैयारियों को लेकर चर्चा, बनी रणनीति

रांची:- कांग्रेस की ओर से आगामी 10 अक्टूबर को देशभर में किसान सम्मेलन आयोजित किया जाएगा। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सह राज्य के वित्त तथा खाद्य आपूर्ति डाॅ. रामेश्वर उरांव के मार्गनिर्देशन में सम्मेलन की तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है। प्रदेश अध्यक्ष ने कहा केंद्र सरकार द्वारा संसद में पारित नये कृषि विधेयकों से किसानों की आजादी खतरे में पड़ जाएगी। भंडारण की सीमा को खत्म कर जमाखोरी बढ़ाने और कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग से पूंजीवाद को बढ़ावा देने के केंद्र के फैसले से किसान को भारी नुकसान होगा। उन्होंने कहा कि इससे किसान और उपभोक्ता दोनों को हानि होगी। सम्मेलन की तैयारियों को लेकर आज प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे की अध्यक्षता में पार्टी नेताओं की रांची स्थित कांग्रेस भवन में बैठक हुई। बैठक में नये कृषि बिल के खिलाफ पार्टी द्वारा 2 से 31 अक्टूबर तक चलाये जा रहे हस्ताक्षर अभियान की भी समीक्षा हुई, वहीं 10 अक्टूबर को आहूत किसान सम्मेलन को सफल बनाने की विस्तृत रणनीति पर विचार-विमर्श किया गया। प्रदेश कांग्रेस आलोक कुमार दूबे ने कहा कि 1885 में पार्टी की स्थापना काल से ही संगठन आम जन, किसान, मजदूर, व्यवसायियों समेत सभी वर्ग के कल्याण में लगी है। पिछली सदी में देश को कई बार भीषण आकाल का सामना करना पड़ा। इसे देखते हुए कांग्रेस शासनकाल में किसानों के हितों की रक्षा के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य और अन्य कानून बनाये गये, लेकिन अब इन कानूनों को पूंजीपतियों के हित में बदलाव करना देश के 62 करोड़ किसानों के लिए खतरे की घंटी है। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता लाल किशोरनाथ शाहदेव ने बताया कि किसान सम्मेलन को सफल बनाने के लिए पार्टी नेताओं-कार्यकत्र्ताओं अलग-अलग सब को जिम्मेदारी दी गई है जो किसान सम्मेलन की तैयारी में लग जाएंगे। उन्होंने कहा कि भाजपा एक ओर छोटे किसानों के हितों पर कुठाराघात कर रही है और ट्रैक्टर को कबाड़ में तब्दील करने का षड़यंत्र रच रही है, ट्रैक्टर की पूजा का ढोंग कर लोगों को बरगलाने में लगी है। प्रदेश प्रवक्ता राजेश गुप्ता छोटू ने कहा कि देशभर के किसानों में भाजपा और केंद्र सरकार के रवैये के खिलाफ खासा आक्रोश है, किसान सड़क पर उतर कर आंदोलनरत है, वहीं भाजपा नेताओं ने बेशर्मी की सारी हदें पार कर अब भी चेतने या सुधरने की जगह लोगों को दिग्भ्रमित करने में जुटी है।

Recent Posts

%d bloggers like this: