October 31, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

ईवी पॉलिसी के तहत 2024 तक दिल्ली में 25 प्रतिशत इलेक्ट्रिक व्हीकल्स होंगे : केजरीवाल

arvind_kejriwall-1200_twt_6_0-sixteen_nine

नई दिल्ली:- दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को ‘डेयरिंग सिटीज-2020’ सम्मेलन को संबोधित किया। इस मौके पर उन्होंने पर्यावरण प्रदूषण के खिलाफ दिल्ली सरकार द्वारा उठाए गए कदमों को साझा किया। केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में पिछले पांच वर्षों में वायु प्रदूषण की समस्या से निपटने के लिए कई उपाय किए गए हैं। दिल्ली सरकार ने हाल ही में प्रभावशाली ईवी पॉलिसी अधिसूचित की है, जिसके तहत 2024 तक दिल्ली में खरीदे जाने वाले नए वाहनों में से 25 प्रतिशत इलेक्ट्रिक व्हीकल्स होंगे। मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली सरकार बायो डीकंपोजर तकनीक को बढ़ावा दे रही है, जिससे घोल का मिश्रण पराली पर छिड़कने से वह खाद में बदला जाता है। उम्मीद है कि इस तकनीक के अपनाने से पराली जलाने की समस्या से निजात मिल सकेगी। इसके अलावा हमने सफलता पूर्वक सम-विषम (ऑड-ईवन) योजना लागू की, जिससे वायु प्रदूषण में 15 प्रतिशत की गिरावट आयी। केजरीवाल ने कहा कि डेयरिंग सिटीज सम्मेलन में बोलने के लिए आमंत्रित करना एक सम्मान की बात है। आप सभी जानते हैं कि पूरा विश्व कोरोना वायरस की चपेट में है। कोरोना वायरस के कारण हमने देखा है कि कई जगहों पर लॉकडाउन किए गए। जब किसी भी जगह पर लॉकडाउन किया गया तो अचानक से हवा के स्तर में सुधार हुआ है। जिसने हमें यह अहसास कराया कि किस तरह मानव किस तरह पर्यावरण ढ़ाचे और जलवायु को बर्बाद करने के लिए जिम्मेदार है। केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में प्रदूषण फैलाने वाले दो थर्मल पावर प्लांट थे। सरकार ने दोनों थर्मल पावर प्लांट बंद कर दिए हैं। हम अब अक्षय ऊर्जा की दिशा में एक बड़ा बदलाव लाने की कोशिश कर रहे हैं। इसके अलावा दिल्ली सरकार ने उद्योग में सबसे अधिक प्रदूषण फैलाने वाले ईंधनों पर प्रतिबंध लगा दिया है। हमने उद्योगों के साथ नजदीकी से काम कर सब्सिडी स्कीम के जरिए स्वच्छ ईंधन पीएनजी पर बदलना सुनिश्चित किया। जिन्होंने नहीं लागू की उनके ऊपर जुर्माना लगाया। अब तक दिल्ली में लगभग सभी उद्योग पीएनजी पर शिफ्ट हो चुके हैं। दिल्ली सरकार बडे स्तर पर पौधा रोपण अभियान चला रही है। सार्वनिक परिवहन प्रणाली और नॉन मोटराइज्ड व्हीकल पॉलिसी को बड़े स्तर पर लागू करने की योजना है। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को ‘डेयरिंग सिटीज 2020’ सम्मेलन में दुनिया भर के पांच शहरी नेताओं के बीच बोलने के लिए आमंत्रित किया गया था। इस सम्मेलन की मेजबानी जर्मन सरकार के सहयोग से आईसीएलईएआई और जर्मनी के बॉन शहर द्वारा की गई। ‘डेयरिंग सिटीज’ वायु प्रदूषण पर शहरी नेताओं का एक वैश्विक मंच है।

Recent Posts

%d bloggers like this: