October 24, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

केंद्रीय मंत्री निशंक व नकवी ने पाकुड़ मेंजवाहर नवोदय विद्यालय का शिलान्यास किया

nishank_

रांची:- केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल ’निशंक’ और अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी द्वारा संयुक्त रूप से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से पाकुड और सेनापति- (मणिपुर) में 2 नए जवाहर नवोदय विद्यालयों का शिलान्यास किया गया। यह कार्यक्रम संजय शामराव धोत्रे, य शिक्षा एवं संचार राज्य मंत्री, अनीता करवाल सचिव, स्कूल शिक्षा और साक्षरता विभाग, प्रमोद कुमार दास, सचिव, अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय, स्वीटी एल. चांगसन, संयुक्त सचिव (संस्थाएँ), स्कूल शिक्षा और साक्षरता विभाग, सुश्री निगार फातिमा हुसैन, संयुक्त सचिव (प्रधान मंत्री जनविकास कार्यक्रम) अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय, श्री विनायक गर्ग, आयुक्त, नवोदय विद्यालय समिति और एस.के. अग्रवाल, महाप्रबंधक (निर्माण) न.वि.स. की उपस्थिति में आयोजित किया गया। आयुक्त, नवोदय विद्यालय समिति, ने इस अवसर पर बताया कि इन जवाहर नवोदय विद्यालयों का निर्माण कार्य लंबे समय से भूमि संबंधी मामलों के कारण लंबित था, जिन्हे अब सुलझा लिया गया है। इन नवोदय विद्यालयों के निर्माण की अनुमानित लागत 93.11 करोड़ रुपये है तथा इनका निर्माण आगामी 2 वर्षों में पूरा हो जाएगा। आयुक्त, न.वि.स. ने सूचित किया कि इन जवाहर नवोदय विद्यालयों के निर्माण कार्य को अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय द्वारा पूरी तरह से वित्त पोषित किया जा रहा है। इसके अतिरिक्त, उत्तर दिनाजपुर (पश्चिम बंगाल), हावड़ा (पश्चिम बंगाल), पश्चिम कामेंग (अरुणाचल प्रदेश), मामित (मिजोरम) में 4 और नवोदय विद्यालय अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय द्वारा प्रधानमंत्री जनविकास कार्यक्रम (च्डश्रटज्ञ) के अंतर्गत आंशिक रूप से वित्त पोषित किए जा रहे हैं।
जवाहर नवोदय विद्यालय मुख्य रूप से ग्रामीण क्षेत्रों के प्रतिभाशाली बच्चों को गुणवत्तापूर्ण आधुनिक शिक्षा निःशुल्क उपलब्ध करवाते हैं। इस शिक्षा में सामाजिक मूल्यों, पर्यावरण के प्रति जागरूकता, सहपाठ्यक्रम गतिविधियां तथा शारीरिक शिक्षा जैसे महत्वपूर्ण घटक सम्मिलित होते हैं। नवोदय विद्यालयों में कक्षा 6 से कक्षा 12 तक शिक्षा प्रदान की जाती है।
वर्तमान में, देश भर में कुल 661 जवाहर नवोदय विद्यालय स्वीकृत किए गए हैं, जो ग्रामीण क्षेत्रों के मेधावी बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने के लिए क्रियाशील हैं। ये विद्यालय सह-शैक्षिक, पूर्ण रूप से आवासीय शिक्षण संस्थान हैं, जिन्हे 8 संभागीय कार्यालयों के माध्यम से नवोदय विद्यालय समिति संचालित करती है। कुल 62 नव-स्वीकृत ज.न.वि. में से 47 विद्यालयों के स्थायी परिसर का निर्माण कार्य तीव्र गति से जारी है 15 नए विद्यालय परिसरों का निर्माण कार्य वर्तमान वित्त वर्ष 2020-21 में पूर्ण होने की संभावना है।
इन विद्यालयों की गुणवत्ता इस तथ्य से परिलक्षित होती है कि इन विद्यालयों से शिक्षा प्राप्त कई छात्रों ने अपनी प्रतिभा के बल पर प्रतिष्ठित क्षेत्रों जैसे संघ लोकसेवा, चिकित्सा और अभियांत्रिकी के क्षेत्र में सफलतापूर्वक कार्यरत हैं। इस वर्ष सिविल सेवा में 28 -29 विद्यार्थियों का चयन हुआ। पिछले वर्ष 4451 छात्रों ने जेईई मेन में, 966 छात्रों ने जेईई एडवांस्ड तथा 12654 छात्रों ने एनईईटी परीक्षाओं में अर्हता प्राप्त की। इसके अतिरिक्त, पिछले तीन वर्षों में जवाहर नवोदय विद्यालयों के 12 छात्रों को अंतर्राष्ट्रीय विश्वविद्यालयों में प्रवेश भी मिला है। अल्पसंख्यक कार्य मंत्री द्वारा ज.न.वि. छात्रों के उत्कृष्ट प्रदर्शन और न.वि.स. द्वारा किए गए प्रयासों की सराहना की गई।
केंद्रीय शिक्षा मंत्री महोदय ने ग्रामीण क्षेत्रों में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा की अलख जगाने के उद्देश्य से नवोदय विद्यालयों की संख्या बढ़ाने के लिए समिति के अधिकारियों को बधाई दी तथा आशा व्यक्त की कि नवोदय विद्यालय शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करते हुए देश के प्रत्येक क्षेत्र को दीप्तिमान करेंगे ।

Recent Posts

%d bloggers like this: