October 21, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

डीएचएफएल ने कहा, 2150 करोड़ के लेनदेन में धोखाधड़ी की गई

नई दिल्ली:- कर्ज में फंसी आवास ऋण देने वाली कंपनी डीएचएफएल ने कहा कि 2,150.84 करोड़ रुपए के लेन-देन में धोखाधड़ी की गई। लेन-देन की जांच से जुड़े ऑडिटर ग्रांट थोर्नटन ने कहा कि कंपनी की बीमा अनुषंगी का कम मूल्य आंक कर यह गड़बड़ी की गई। डीएचएफएल दिवाला एवं ऋण शोधन अक्षमता संहिता (आईबीसी) के तहत समाधान प्रक्रिया के अंतर्गत है। इस साल की शुरूआत में कंपनी के प्रशासक ने डीएचएफएल के मामलों की जांच के लिए ग्रांट थोर्नटन की सेवा ली थी। शेयर बाजार को दी गई सूचना में कहा गया है कि ऑडिटर रिपोर्ट के अनुसार 2,150.84 करोड़ रुपए की गड़बडी की गयी। यह गड़बड़ी उस समय की गई जब डीएचएफएल ने प्रामेरिका लाइफ इंश्योरेंस में अपनी हिस्सेदारी डीएचएफल इनवेस्टमेंट्स ‎लिमिटेड (डीआईएल) को बेचा। इसमें बीमा अनुषंगी का कम मूल्य आंककर धोखाधड़ी की गई। रिपोर्ट के आधार पर प्रशासक ने कंपनी की प्रामेरिका लाइफ इंश्योरेंस (पूर्व में डीएचएफएल प्रामेरिका लाइफ इंश्योरेंस) में कंपनी की हिस्सेदारी डीआईएल को बेचे जाने से जुड़े समझौतों और कुछ ‘इंटर कॉरपोरेट डिपोजिट’ को लेकर एनसीएलटी (राष्ष्ट्रीय कंपनी विधि न्यााधिकरण) के समक्ष आवेदन किया है।

Recent Posts

%d bloggers like this: