November 1, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

इस साल के आ‎खिरी तक आ सकती है कोरोना की वैक्सीन: डब्ल्यूएचओ प्रमुख

नई ‎दिल्ली:- दुनिया भर में कोरोना वायरस की वैक्सीन के ट्रायल जारी हैं1 इस बीच वैक्सीन को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी एक अच्छी खबर दी है। डब्ल्यूएचओ प्रमुख टेड्रोस एडनॉम गेब्रियेसस का कहना है कि एक सुरक्षित और कारगर वैक्सीन इस साल के अंत तक तैयार हो सकती है। इसके साथ ही डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने दुनिया के सभी नेताओं से वैक्सीन का समान वितरण सुनिश्चित कराने को भी कहा। डब्ल्यूएचओ के कार्यकारी बोर्ड की बैठक में टेड्रोस ने कहा ‎कि हमें वैक्सीन की जरूरत है और उम्मीद है कि इस साल के अंत तक हमारे पास वैक्सीन आ जाएगी। हमें एक-दूसरे की जरूरत है, हमें एकजुटता की जरूरत है और हमें वायरस से लड़ने के लिए पूरी ऊर्जा का इस्तेमाल करने की जरूरत है। डब्ल्यूएचओ की अगुवाई वाली कोवैक्स ग्लोबल वैक्सीन फैसिलिटी में 9 प्रायोगिक वैक्सीन अभी पाइपलाइन में हैं। खासतौर से जो भी वैक्सीन और दूसरे प्रोडक्ट पाइपलाइन में हैं, इन सबमें सबसे जरूरी जो चीज है वो वैक्सीन के समान वितरण को लेकर हमारे नेताओं की राजनीतिक प्रतिबद्धता है।
डब्ल्यूएचओ की कोवैक्स फैसिलिटी और गवी वैक्सीन गठबंधन, कोरोनो वैक्सीन कैंडिडेट को एक्सेस देती है। कोवैक्स के साथ करार करने वाले देशों को नए वैक्सीन कैंडिडेट के एक व्यापक पोर्टफोलियो तक पहुंच मिल सकेगी। अब तक 168 देश कोवैक्स फैसिलिटी में शामिल हो चुके हैं। हालांकि चीन, अमेरिका और रूस जैसे देश इसमें नहीं हैं। गवी वैक्सीन गठबंधन के बोर्ड ने पहले ही 92 कम और मध्यम आय वाले देशों के लिए वैक्सीन की डिलीवरी, तकनीकी सहायता और कोल्ड चेन उपकरण के लिए 15 करोड़ की मंजूरी दे चुकी है1 यूरोप ड्रग रेगुलेटर फाइजर इंक और बायोएनटेक ने हाल ही में अपनी प्रायोगिक वैक्सीन की शुरूआती समीक्षा शुरू की है1 इससे मेडिसीन एजेंसी को यह जानने में मदद मिलेगी कि वैक्सीन अपने ट्रायल में कैसा प्रदर्शन कर रही है।

Recent Posts

%d bloggers like this: