October 24, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

स्विस बैंक के बड़े निवेशक ने कहा- डॉलर से रिजर्व करेंसी का तमगा छिनने का खतरा

नई दिल्ली:- स्विस बैंक के एक बड़े निवेशक ने कहा है कि अमेरिकी सेंट्रल बैंक एफईडी की तुलना में आरबीआई ज्यादा जिम्मेदारी के साथ काम कर रहा है। एक समाचार चैनल के साथ बातचीत में ‘द ग्लूम, बूम एन्ड डूम रिपोर्ट’ के एडिटर, पब्लिशर और दिग्गज निवेश सलाहकार मार्क फेबर ने कहा ‘मजबूत या स्थिर रुपये की अहमियत आरबीआई समझता है। एफईडी मजबूत डॉलर की अहमियत नहीं समझ पा रहा। डॉलर से रिजर्व करेंसी का तमगा छिनने का खतरा है। मार्क फेबर का ये भी कहना है कि दुनिया के मुकाबले भारतीय इकोनॉमी में तेज रिकवरी आएगी। भारतीय इकोनॉमी का आउटलुक बेहतर है। इकोनॉमी में अब रिकवरी दिख रही है। दुनिया के मुकाबले भारत में रिकवरी तेज है। 6 महीने में भारतीय इकोनॉमी रफ्तार पकड़ लेगी, पेंटअप डिमांड से काफी फायदा होगा। उन्होंने कहा कि अमेरिकी चुनावों का ज्यादा प्रभाव नहीं होगा। फेडरल रिजर्व के फैसलों पर बहुत कुछ निर्भर है। आगे टेक और आईटी से जुड़े शेयरों में तेजी संभव है। निवेश के लिए भारत पर भरोसा किया जा सकता है। भारत में ग्रोथ के लिए बैंकों की मजबूती जरूरी है। वैल्यू स्टॉक्स के शानदार प्रदर्शन की उम्मीद है। भारतीय कंपनियों को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। ऑयल में अच्छी रिकवरी दिख सकती है।

Recent Posts

%d bloggers like this: