October 23, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

योनो को अलग इकाई बनाएगा एसबीआई: रजनीश कुमार

मुंबई:- देश का प्रमुख बैंक भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) अपने डिजिटल प्लेटफार्म योनो को अलग इकाई बनाने के बारे में विचार कर रहा है। बैंक के चेयरमैन रजनीश कुमार ने यह जानकारी दी। योनो (यू आनली नीड वन ऐप) स्टेट बैंक की एकीकृत बैंकिंग पलेटफार्म है। कुमार ने एक सालाना बैंकिंग और वित्त सम्मेलन सिबोस 2020 में कहा ‎कि हम अपने सभी भागीदारों के साथ इस बारे में (योनो को अलग अनुषंगी बनाने) विचार विमर्श कर रहे हैं। योनो के अलग इकाई बन जाने के बाद स्टेट बैंक उसका इस्तेमाल करने वालों में एक होगा। हालांकि बातचीत अभी शुरुआती दौर में है, मूल्यांकन का काम अभी लंबित है। रजनीश कुमार ने हाल में कहा था कि योनो का मूल्यांकन 40 अरब डालर के आसपास हो सकता है। कुमार ने स्पष्ट किया ‎कि मैंने जो बयान दिया, वह इस पर आधारित है कि जब मैं सभी स्टार्टअप के मूल्य पर गौर करता हूं और उसकी तुलना करता हूं तो ऐसे में निश्चित रूप से योनो का मूल्यांकन 40 अरब डालर से कम नहीं होना चाहिए। इस समय हमने इसके मूल्यांकन की कोई पहल नहीं की है, मेरा मानना है कि यह संभावना है। योनो को तीन साल पहले शुरू किया गया था। इसके 2.60 करोड़ पंजीकृत उपयोगकर्ता हैं। इसमें रोजना 55 लाख लॉगइन होते हैं और 4,000 से अधिक व्यक्तिगत रिण आवंटन और 16 हजार के करीब योनो कृषि एग्री गोल्ड लोन दिए जाते हैं। स्टेट बैंक खुदरा भुगतान के लिढ एक नई समग्र इकाई व्यवस्था के तहत अलग डिजिटल भुगतान कंपनी स्थापित करने पर भी विचार कर रहा है।

Recent Posts

%d bloggers like this: