October 30, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

कोरोना से मुकाबले को जरूरी संसाधन जुटाने के लिए अमीर लोगों पर लगाया जाए ज्यादा टैक्स : स्टिग्लिज

कोलकाता:- अमेरिकी अर्थशास्त्री और नोबेल पुरस्कार से सम्मानित जोसेफ ई स्टिग्लिज ने कहा कि अगर भारत सरकार कोविड-19 महामारी का मुकाबला करने के लिए जरूरी धनराशि जुटाने में असफल साबित हो रही है, तो उसे अपने सबसे अमीर लोगों पर टैक्स लगाकर जरूरी संसाधन जुटाने का प्रयास करना चाहिए। उन्होंने कहा कि भारत सरकार को महामारी पर नियंत्रण और कमजोर वर्ग की मदद करने के लिए खर्च करने से पीछे नहीं हटना चाहिए। स्टिग्लिज ने फिक्की द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में कहा, धनराशि को कम असर वाले क्षेत्रों की जगह अधिक असर वाले क्षेत्रों में खर्च करना चाहिए और यदि आपके पास संसाधन नहीं हैं तो कर बढ़ाइए, क्योंकि आपके यहां बहुत से अरबपति हैं। बीते दिनों भारत में सर्वाधिक धनी लोगों पर कोविड कर लगाने को लेकर काफी बहस हुई है। उन्होंने यह भी कहा कि भारत और अमेरिका दोनों ने कोरोना महामारी का सामना अच्छी तरह नहीं किया। उन्होंने कहा परदेसी मजदूरों को घर जाने की छूट देने से महामारी का संक्रमण बढ गया और पाबंदी का उद्देश्य विफल हो गया। उन्होंने नस्लवादी और विषमताकारी राजनीति के लिए अमेरिका की आलोचना की और कहा कि भारत में भी इसी तरह की विभाजनकारी राजनीति हो रही है। इससे समाज और अर्थव्यवस्था का नुकसान होता है। हाल में दुनिया के करीब 80 अमीर बिजनसमैन ने दुनियाभर की सरकारों को चिट्ठी लिखकर कहा था कि सरकारों को कोरोनावायरस से फैली महामारी से निपटने के लिए अमीर लोगों पर ज्यादा टैक्स लगाना चाहिए। उन्होंने कहा कि उनपर भी सरकार को तुरंत, काफी हद तक और स्थाई रूप से ज्यादा टैक्स लगाना चाहिए। इस ग्रुप में बेन एंड जेरी आईसक्रीम के को फाउंडर जेरी ग्रीनफील्ड, स्क्रीन राइटर रिचर्ड कर्टिस और फिल्ममेकर एबिगेल डिज्नी के साथ अमेरिकी उद्यमी सिडनी टोपोल और न्यूज़ीलैंड के रिटेलर स्टीफन टिंडल भी शामिल हैं।

Recent Posts

%d bloggers like this: