November 1, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

सरायकेला जिले में 8 साल से कछुए की चाल से बन रहा है अस्पताल

सरायकेला :- झारखंड के सरायकेला जिले के आमदा में बीत 8 वर्षों से लंबित पांच सौ बेड के अस्पताल का काम पूरा नहीं होने पर केन्द्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने गहरी नाराजगी जतायी है। कछुए की गति से किये जा रहे निर्माण पर रोष जताते हुए उन्होंने इसके खिलाफ आंदोलन की चेतावनी दी है। उन्होंने कहा कि अगर अब जो काम पूरा करने का समय तय किया गया है, उस समय पर आमदा स्थित पांच सौ बेड का अस्पताल पूरा नहीं हुआ तो वे खरसांवा की जनता के साथ सामूहिक उपवास पर बैठेंगे।
दरअसल, वर्ष 2012 में अर्जुन मुंडा के मुख्यमंत्रित्व काल में इस अस्पताल का शिलान्यास किया गया था। इसे 2015 तक पूरा होना था। अस्पताल के साथ इसे मेडिकल कालेज के रूप में भी विकसित करने की योजना थी। अस्पताल निर्माण के बीच में भी विशेषज्ञों की टीम ने अस्पताल का दौरा किया था। मगर अब तक यह अस्पताल पूरा ही नहीं हुआ। अब इसकी लागत 152 करोड़ रुपये तक पहुंच चुकी है। इस अस्पताल के निर्माण को लेकर वर्तमान खरसांवा विधायक दशरथ गागराई अपने दो कार्यकाल के बीच कई बार विधानसभा में मामला उठा चुके हैं। अभी हाल में दशरथ गागराई ने 22 सितंबर को सदन में तारांकित प्रश्न के रूप सवाल पूछा था। जिसके जवाब में कहा गया कि झारखंड राज्य भवन निर्माण निगम लिमिटेड से प्राप्त प्रतिवेदन के अनुसार संवेदक एनबीसीसी द्वारा 25 फरवरी को लिखित आश्वासन दिया गया है कि दिसंबर 2020 तक आमदा अस्पताल का काम पूरा कर लिया जाएगा। संवेदक ने अब तक 85 प्रतिशत काम पूरा होने का दावा भी किया है। और संवेदक के पास अब अगले दो महीने का वक्त बचा है।

Recent Posts

%d bloggers like this: