October 27, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

कहलगांव विधानसभा : एन एच 80, एनटीपीसी के ऐश से लोगों का जीना मुहाल, सहित कई मुद्दे

भागलपूर:- कहलगांव विधानसभा चुनाव में लोगों का मुख्य मुद्दा जानलेवा और भीषण जामबाले एनएच80, एनटीपीसी के ऐश से होने वाले गंभीर बीमारियों से लोगों का जीना मुहाल,बटेश्वर गंगा पंप नहर योजना से किसी भी कृषक को लाभ नहीं और क्षेत्र में 40 वर्षों से कुछ भी विकास नहीं होना मुख्य मुद्दा है। कहलगांव विधानसभा में एनटीपीसी के आस-पास के गांव में एनटीपीसी की धुआं, धूल और गंदी पानी से लोगों का जीना मुश्किल हो गया है। यहां पर जब भी हवा चलती है तो एनटीपीसी की ऊंची -ऊंची ऐश लोगों के घरों में इस तरह जाता है जैसे पूरा घर, गांव ऐश से नहा लिया हो। एनटीपीसी की इस ऐश से खांसी, दम्मा, कैंसर जैसे गंभीर बीमारी से लोग जूझ रहे हैं। लोगों का कहना है कि कोई भी नेता बात तो उठाते हैं बाद में एनटीपीसी के मैनेजमेंट के प्रभाव में आ जाते हैं । एनटीपीसी के आस-पास के गांव वालों का कहना है कि जो एनटीपीसी की जहरीला ऐश और उसकी बहती गंदी पानी से उन्हें निजात दिलाएगा हम लोग उसी को वोट देंगे यही हमारा मुद्दा है। वही कहलगांव शहर के लोगों का कहना है कि हमलोग का मुद्दा एनएच 80 है। लोगों का कहना है कि NH80 जानलेवा हो गया है। अब तक अनेक लोगों की जाने इसमें गई है। एनएच80 के खराब होने के कारण जिला मुख्यालय पहुंचना मुश्किल है और यहां होने वाले जाम से लोग समय पर जिला मुख्यालय नहीं पहुंच पाते हैं। लोगों ने कहा कि कई मरीजों का जिला अस्पताल तक नहीं पहुंच पाने के कारण मौत हो जाती है। कई महिलाओं का रास्ते में ही प्रसव हो जाता है। लोगों ने कहा कि इसके अलावा भी कई समस्या से यहां लोग जूझ रहे हैं। लोगों ने कहा कि एनटीपीसी की ऐश ढोने वाली गाड़ी से भी रास्ते में जाम होना मुख्य कारण है । लोगों ने कहा कि ऐश रात में ढोने का नियम है लेकिन दिन में भी गाड़ी जाती है और वह भी पुरानी गाड़ी। जिससे एनएच 80 पर जाम लगता है। लोगों ने एनएच के जाम से निजात दिलाने एनएच के सही होने का मुद्दा विधानसभा चुनाव में बनाया है। वही कहलगांव उत्तरवाहिनी गंगा किनारे बसे लोगों का कहना है कि गंगा में कल कारखानों की गंदी पानी, एनटीपीसी की गंदी पानी बहती है। जिससे गंगा दूषित हो रही है और यहां डॉल्फिन मारे जा रहे हैं । गंगा किनारे बसे लोगों का कहना है कि हमारा मुद्दा है कि गंगा स्वच्छ रहे। एनटीपीसी की गंदी पानी ना गिरे । लोगों ने कहा कि नेता लोग आगे बढ़कर बातें तो उठाते हैं लेकिन फिर एनटीपीसी मैनेजमेंट के प्रभाव में आ जाते हैं और वही होता है बरसों से जो हो रहा है गंगा दूषित हो रही है । इसे लेकर लोगों में एनटीपीसी के प्रति आक्रोश भी देखा गया। वहीं कहलगांव के देहाती क्षेत्र के खास करके किसानों का कहना है कि बरसों से करोड़ों रुपए से बने बटेश्वर गंगा पंप नहर से हम लोग को एक बूंद भी पानी नहीं मिला। किसानों ने कहा कि पिछले दिनों नीतीश कुमार इसका उद्घाटन किए थें। उद्घाटन के बाद ही गंगा पंप नहर फेल हो गया। किसानों ने कहा कि हमलोगों के जमीन को जो पानी देगा हम ऐसे नेता को चुनेंगे। इसके अलावा भी कहलगांव विधानसभा में कई ज्वलंत मुद्दे हैं। जिसे यहां के मतदाता ने मुद्दा बनाया है। लोगों ने अंत में कहा कि कहलगांव विधानसभा क्षेत्र में 40 साल से विकास जैसे थम सी गई है। हमें ऐसा नेता चाहिए जो इस क्षेत्र का विकास कर सके। वहीं छात्राओं ने कहा कि कहल गांव में एक भी महिला कॉलेज नहीं है जिसके कारण हम लोग को भागलपुर जाना पड़ता है छात्रों की मांग है कि कल गांव में एक महिला कॉलेज खुले इसके अलावा भी क्षेत्र में अनेक छोटे-मोटे मुद्दे हैं लेकिन मुख्य मुद्दा कहलगांव विधानसभा का उपर्युक्त है।

Recent Posts

%d bloggers like this: