October 20, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

दिल्ली में वायु प्रदूषण को लेकर सीएम केजरीवाल सख्त

नई दिल्ली:- राजधानी में साफ आबोहवा के लिए सोमवार से दिल्ली सरकार वायु प्रदूषण के खिलाफ मेगा अभियान शुरू करेगी। सोमवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की अध्यक्षता में सभी संबंधित एजेंसियों की बैठक बुलाई गई है। पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने रविवार को ट्वीट करके इसकी जानकारी दी। उनके मुताबिक बैठक में वायु प्रदूषण के खिलाफ शुरू होने वाले अभियान पर चर्चा होगी। गोपाल राय के मुताबिक प्रदूषण को लेकर होने वाली अहम बैठक में पर्यावरण, परिवहन, विकास, लोक निर्माण विभाग, डीडीए, जलबोर्ड, नगर निगम और यातायात पुलिस के लोग भी शामिल होंगे। बैठक में पूरी कार्ययोजना पर चर्चा होगी। उसके बाद अभियान की शुरू की जाएगी। जिससे दिल्ली में आने वाले दिनों में बिगड़ने वाली अबोहवा को साफ व स्वच्छ रखा जा सके।बताते चले कि हाल ही में केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने प्रदूषण को लेकर एनसीआर की एक बैठक की थी। बैठक में दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने केंद्र से कहा था कि 11 थर्मल पावर प्लांट और 1,900 से अधिक ईंट भट्टों को राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में पुरानी तकनीक का उपयोग करके उनके उत्सर्जन को नियंत्रित करने के लिए समयबद्ध कार्रवाई करने के लिए कहा। जिससे उसके कारण होने वाले प्रदूषण को कम किया जा सके। दिल्ली से सटे राज्यों हरियाणा, उत्तर प्रदेश और पंजाब के अलग-अलग शहरों में 11 थर्मल पावर प्लांट है। जिसमें दिसंबर 2019 तक उत्सर्जन को कम करने के लिए ग्रिप-गैस नामक तकनीक का प्रयोग होना था। गोपाल राय के मुताबिक उत्तर प्रदेश में 1,640 से अधिक ईंट भट्टे हैं, हरियाणा में 161 और 164 राजस्थान में हैं। ये सभी बड़े पैमाने पर दिल्ली के वायु प्रदूषण को बढ़ाने में बड़ा योगदान है। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार ने जावड़ेकर के साथ बैठक के दौरान शहर में जलने से निपटने के लिए अपनी योजना पेश की। उन्होंने कहा कि नजफगढ़ के खरखरी गांव में एक केंद्र स्थापित किया जा रहा है, जहां मंगलवार से शुरू होने वाले लगभग 400 कंटेनरों में बायो-डीकंपोजर घोल तैयार किया जाएगा। जिसका छिड़काव खेतों में पराली पर किया जाएगा। जिससे वह डी कंपोज हो जाएगा। 20 रुपये का कैप्सूल प्रभावी रूप से प्रति एकड़ 4-5 टन कच्चे भूसे (पराली) को खत्म कर सकता है।

Recent Posts

%d bloggers like this: